सीरिया में तुर्की की कार्रवाई 'अकेले नहीं'

  • 9 अक्तूबर 2014
इमेज कॉपीरइट EPA

तुर्की के विदेश मंत्री का कहना है कि यह उम्मीद बेमानी होगी कि तुर्की अकेले दम पर सीरिया में इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ ज़मीनी कार्रवाई करेगा.

अंकारा में नैटो प्रमुख जेन्स स्टोल्टेनबर्ग के साथ हुई बैठक के बाद विदेश मंत्री मेवलुत कावुसोगलु ने तुर्की और सीरिया की सीमा के ऊपर के क्षेत्र को उड़ान रहित क्षेत्र यानी नो फ़्लाई ज़ोन घोषित करने की मांग की.

सीरिया और तुर्की की सीमा पर स्थित कोबानी शहर में इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ रही कुर्द सेनाओं की सहायता के तुर्की पर काफी दबाव है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कोबानी शहर में पिछले कुछ दिनों से भीषण लड़ाई चल रही है

सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि भीषण लड़ाई के बाद स्थिति ये है कि कोबानी शहर का क़रीब एक तिहाई हिस्सा इस्लामिक स्टेट के नियंत्रण में हैं.

सीरियन ऑब्ज़र्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने विश्वस्त सूत्रों के हवाले से कहा है कि आईएस पूर्वी ज़िलों से शुरू होकर शहर के बीचोंबीच पहुंचने की ओर अग्रसर है.

इससे पहले कोबानी में एक कुर्द नेता ने बताया कि रात भर में आईएस के लड़ाके दो और ज़िलों में पहुंच चुके थे और उनके पास भारी हथियार भी हैं.

सीरिया और इराक़ में आईएस के ख़िलाफ़ लड़ाई में अंतरराष्ट्रीय गठबंधन सेनाओं का नेतृत्व अमरीका कर रहा है और इन दोनों देशों की सीमाएं तुर्की से मिलती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार