अमरीका में इबोला से पहली मौत

  • 9 अक्तूबर 2014
थॉमस एरिक डंकन, इबोला, अमरीका, लाइबीरिया इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका में इबोला के पहले पीड़ित व्यक्ति थॉमस एरिक डंकन की मौत हो गई है. यह जानकारी टेक्सास अस्पताल के अधिकारियों ने दी है.

42 वर्षीय डंकन को इबोला वायरस का संक्रमण उनके मूल देश लाइबेरिया में हुआ था. उसके बाद से उनका अमरीका के डलास स्थित अस्पताल में इलाज चल रहा था.

इससे पहले अमरीका ने देश में सभी प्रवेश मार्गों पर यात्रियों के संक्रमण की जाँच कराने के नए मानक घोषित किए हैं.

नए मानक

इबोला के संक्रमण से अब तक 3,865 लोगों की मौत हो चुकी हैं. ज़्यादातर मौतें लाइबेरिया, सिएरा लियोन और गिनी में हुई हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने संक्रमण से बचने के लिए मानकों और नियमों के पालन पर जोर दिया है.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने डंकन की मौत पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "आज हमारे विचार उनके साथ हैं."

उन्होंने कहा, "हमारे पास ग़लती करने की ज़्यादा गुंजाइश नहीं है. अगर हम मानकों और प्रक्रियाओं का पालन नहीं करेंगे तो अपने लोगों को ख़तरे में डालेंगे."

वहीं अमरीका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने सभी देशों को इस संक्रमण से मुक़ाबला करने के लिए ज़्यादा प्रयास करना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार