प्रदर्शनकारी फिर से 'गोलबंद' होने लगे

  • 10 अक्तूबर 2014
हांगकांग विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट AFP

हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारी फिर से हजारों की संख्या में सड़कों पर उतरने लगे हैं.

शुक्रवार को छात्रों और सरकार के बीच तय बातचीत रद्द हो जाने के बाद प्रदर्शनकारियों ने संघर्ष करने के लिए फिर से कमर कस ली है. आंदोलनकारी नेताओं ने सभी प्रदर्शनकारियों से एकजुटता दिखाने की अपील की है.

हांगकांग के मुख्य सचिव कैरी लैम का कहना है कि विरोध प्रदर्शन खत्म करने के छात्रों के इंकार के बाद 'सकारात्मक बातचीत' के सभी रास्ते बंद हो गए हैं.

लोकतांत्रिक तरीके से साल 2017 के चुनाव संपन्न किए जाने की मांग करने वाले प्रदर्शनकारियों के आंदोलन के कारण हांगकांग में बीते कई हफ्तों से उथल-पुथल मची रही.

लेकिन एक हफ्ते से प्रदर्शनकारियों की संख्या में काफी कमी आने लगी थी.

गोलबंदी तेज

इमेज कॉपीरइट
Image caption बीते एक हफ्ते से प्रदर्शनकारियों की संख्या में काफी कमी आने लगी थी

इस बीच तय बातचीत रद्द हो जाने से नाराज लोकतंत्र समर्थक छात्रों ने आंदोलन के साथियों से बड़ी संख्या में फिर से सड़क पर उतरने की अपील की है.

बीबीसी संवाददाता जूलियाना लियो को उम्मीद है कि प्रदर्शनकारियों के नए सिरे से जुटने से शिथिल पड़ चुका आंदोलन फिर से तेज हो उठेगा.

वे बताती हैं कि शुक्रवार की शाम तक हजारों की तादाद में लोग ऐडमिरैलिटी में मुख्य प्रदर्शन स्थल पर जुटने लगे हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार प्रदर्शनकारी तंबू और खाने-पीने से जुड़े साजो-सामान लेकर प्रदर्शन स्थल पर जमा हो रहे हैं. इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि उनका मंशा लंबे संघर्ष की है.

प्रदर्शनकारियों की मांग है कि 2017 के चुनाव में हांगकांग के नेता का चुनाव प्रत्यक्ष तरीके से हो.

जबकि चीन का कहना है कि हांगकांग कानून के मुताबिक मतदाता स्वतंत्र तरीके से वोट तो डालेंगे, लेकिन उम्मीदवारों का चयन नामित समिति ही करेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार