श्रीलंका: 24 साल बाद जाफ़ना जाएगी रेल

जाफना रेलवे स्टेशन इमेज कॉपीरइट AFP

श्रीलंका में राजधानी कोलंबो और देश के उत्तरी शहर जाफ़ना के बीच 24 साल बाद रेल सेवा शुरू होने जा रही है.

राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे सोमवार को इसका उदघाटन कर रहे हैं.

देश में लंबे समय तक तमिल विद्रोहियों के साथ चले गृह युद्ध के कारण ये रेल लाइन पिछले 24 सालों से बंद थी. इस रूट की लंबाई 358 किलोमीटर है.

कभी 'क्वीन ऑफ़ जाफना' नाम की एक लोकप्रिय ट्रेन तमिल बहुल उत्तरी इलाके को देश के बाक़ी हिस्से से जोड़ती थी.

पुरानी पीढ़ी के लोगों के लिए यह अतीत की यादें ताजा करने जैसा है. इस रेल लाइन की अहमियत आर्थिक वजहों से भी थी.

सकरात्मक बदलाव

इमेज कॉपीरइट AP

अतीत में श्रीलंका के उत्तरी इलाके से दक्षिण क्षेत्र को मछलियों और सामानों की आपूर्ति करने के लिए इस रेल लाइन का इस्तेमाल किया जाता था.

हालांकि 1990 में ये सब उस वक्त बंद हो गया जब अलग देश की मांग कर रहे तमिल विद्रोहियों के हमले शुरू हो गए. ये रेल लाइन असर वाले इलाकों से होकर गुजरती थी.

श्रीलंका के गृह युद्ध के दौरान देश के उत्तर हिस्से में सरकारी सैन्य बलों को भेजने के लिए भी यही रेल लाइन इस्तेमाल में लाई जाती थी.

इस रेल लाइन के दोबारा खुलने को युद्ध की समाप्ति के बाद श्रीलंका में हो रहे सकारात्मक बदलावों के तौर पर देखा जा रहा है.

और फ्रै(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार