नेपाल हादसाः 39 लोगों की मौत की पुष्टि

नेपाल में बर्फ़ीला तूफ़ान इमेज कॉपीरइट AFP

नेपाल में बर्फ़ीले तूफ़ान में अब तक कम से कम 39 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है.

बीबीसी की नेपाली सेवा ने नेपाली पर्यटन मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से बताया है कि अब तक 39 लोगों की इस हादसे में मौत हो चुकी है.

अब तक 20 शव निकाले जा चुके हैं, जबकि 19 लोगों के शव अभी भी बर्फ़ में हैं जिन्हें रविवार को निकालने की कोशिश की जाएगी.

राहत और बचाव के काम में जुटे अधिकारियों के मुताबिक़ 384 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है और लगातार चौथे दिन भी लापता लोगों की तलाश जारी है. बाहर निकाले गए लोगों में 216 विदेशी हैं.

नेपाल में हाल के वर्षों में ट्रैकिंग के दौरान इसे सबसे बड़ा हादसा बताया गया है. नेपाल की सेना ने भारी बर्फ़बारी से बाधित हुए रास्तों को साफ़ कर दिया है.

विदेशी नागरिक

प्रभावित इलाक़े में अभी भी बर्फ़ के नीचे कई लोगों के फंसे होने की आशंका है.

मरने वाले पर्वतारोहियों में नेपाल, भारत, स्लोवाक, इसराइल, पोलैंड और कनाडा के नागरिक हैं.

बचाए गए पर्वतारोहियों में कई लोगों के हाथ-पांव ठंड की वजह से सुन्न हो गए हैं और उनके अंगों को काटने की नौबत भी आ सकती है.

सांगड़ा ला में फंसे कई लोग

धौलगिरी के सांगड़ा ला इलाक़े में कई लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है.

जिनकी तलाश में हेलिकॉप्टर के ज़रिए खोजी अभियान जारी है.

अधिकारियों का कहना है कि बचाव दल का पहला उद्देश्य फंसे हुए पर्वतारोहियों को बाहर निकालना है.

19 हज़ार फ़ुट की ऊंचाई पर हेलिकॉप्टर की मदद से तलाश अभियान जारी है.

अन्नपूर्णा सर्किट

इमेज कॉपीरइट Getty

मंगलवार को यह घटना अन्नपूर्णा सर्किट पर हुई.

दुनिया भर में ट्रेकिंग करने वालों के लिए यह एक जानी मानी जगह है.

दक्ष और अनुभवी पर्वतारोहियों के अलावा कम अनुभवी लोग भी यहां अकसर आते हैं.

फंसे लोगों में कुछ ऐसे भी हैं जो ऐसी स्थिति का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं थे.

'गाइड साथ छोड़ गए'

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption हिमस्खलन की वजह से फंसे लोगों को बचाने के लिए राहत कार्य अभी भी जारी है.

सिमोन लोवे एक अनुभवी पर्वतारोही हैं जिन्होंने नेपाल के पर्वतों पर कई बार चढ़ाई की है.

उन्होंने बताया, "आप साल के इस समय मौसम का अंदाज़ा नहीं लगा सकते."

कुछ पर्वतारोहियों ने आरोप लगाया है कि उनके गाइड मुसीबत के वक़्त उनका साथ छोड़ गए हैं.

नेपाल में ट्रेकिंग और पर्वतारोहण के लिए हर साल लाखों लोग आते हैं. हिमालयी देश नेपाल को इससे भारी कमाई होती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार