संपादक जिसने अमरीकी राष्ट्रपति को झुकाया

  • 22 अक्तूबर 2014
इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी समाचार पत्र वाशिंगटन पोस्ट के पूर्व संपादक बेन ब्रेडली का 93 साल की उम्र में निधन हो गया.

उनकी गिनती अमरीका के सबसे बेहतरीन संपादकों में होती है.

ब्रेडली उस समय में वाशिंगटन पोस्ट के संपादक थे, जब अख़बार ने वाटरगेट स्कैंडल की ख़बरों को प्रमुखता से प्रकाशित किया था.

उन्होंने अपने दो संवाददाताओं बॉब वुडवार्ड और कार्ल ब्रेनस्टाइन को वाटरगेट स्कैंडल के दौरान अमरीकी राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन के सहयोगियों के गैर क़ानूनी कामों में शामिल होने पर लगातार रिपोर्टिंग करने को कहा था.

इससे उठे विवाद के चलते ही निक्सन को नौ अगस्त, 1974 को अमरीकी राष्ट्रपति पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था.

सरकार का सामना

ब्रेडली वाशिंगटन पोस्ट के 1968 से 1991 तक कार्यकारी संपादक रहे. इस दौरान उन्होंने वाशिंगटन पोस्ट को अमरीका का सबसे प्रतिष्ठित समाचार पत्र बना दिया.

साल 2013 में उन्हें अमरीका के सबसे बड़े नागरिक सम्मान- प्रेसिडेंशियल मेडल ऑफ़ फ़्रीडम से सम्मानित किया गया.

उन्हें सम्मानित करते हुए राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था, "ब्रेडली ने वाशिंगटन पोस्ट को दुनिया का सबसे बेहतरीन अख़बार बना दिया."

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीका के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से बेन ब्रेडली को सम्मानित करते बराक ओबामा.

दूसरे विश्व युद्ध के दौरान अमरीकी नौ सेना का हिस्सा रहे ब्रेडली 1950 के दशक में पत्रकार बन गए थे.

वर्ष 1965 में वे वाशिंगटन पोस्ट के मैनेजिंग एडिटर बने. तीन साल बाद वे अख़बार के एग्ज़क्यूटिव एडिटर बने. 1971 में उन्होंने पेंटागन पेपर्स को प्रकाशित करने का फ़ैसला लिया था.

यह वियतनाम युद्ध के दौरान अमरीकी नीतियों और कार्रवाईयों से जुड़े गुप्त दस्तावेज़ थे. उनपर इसे नहीं छापने के लिए सरकार की तरफ़ से दबाव पड़ा. मुकदमे हुए.

इसके प्रकाशन का मामला अमरीका के सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था, जहां सर्वोच्च अदालत ने माना कि इन दस्तावेज़ों को प्रकाशित करना अख़बार का अधिकार है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार