फ़िलीपींस में क्यों घटे चीनी पर्यटक?

फ़िलीपींस का एक द्वीप इमेज कॉपीरइट AFP

आमतौर पर फ़िलीपींस में बोरासे द्वीप के रेस्तरां और समुद्र तट पर दुनिया भर के पर्यटकों की हलचल होती है.

लेकिन इस साल बाकी दिनों की तुलना में बोरासे में सन्नाटा सा पसरा है. यहाँ आने वाले चीनी पर्यटकों में ज़बरदस्त गिरावट आई है.

ऐसा 12 सितंबर को चीन की तरफ़ से जारी यात्रा संबंधी एक सलाह के कारण हुआ है.

यात्रा संबंधी चेतावनी

अपनी सलाह में चीनी विदेश मंत्रालय ने 'फ़िलीपींस में ख़राब सुरक्षा स्थितियों' का हवाला देते हुए कहा कि चीन के नागरिकों को निशाना बनाया जा सकता है.

चीन और फ़िलीपींस के बीच दक्षिणी चीन सागर के क्षेत्रीय विवादों के कारण तनाव के बीच यह यात्रा चेतावनी जारी की गई है.

इसे फ़िलीपींस में चीनी पर्यटकों की सुरक्षा चिंताओं को ज़्यादा बढ़ाकर पेश करने के रूप में देखा जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption दक्षिणी चीन सागर पर चीन के दावों का विरोध करते फ़िलीपींस के लोग.

इस द्वीप के रेस्तरां संगठन के प्रमुख डिओनिसियो साल्मे ने कहा, "हम चिंतिंत है और हमारे ऊपर इसका असर हुआ है."

अगस्त में चीनी पर्यटकों की संख्या 18,479 थी, सितंबर में घटकर 7,000 से भी नीचे पहुंच गई.

चीन में अक्टूबर की हफ़्तेभर लंबी सार्वजनिक छुट्टियों के दौरान भी पर्यटकों की संख्या में कमी जारी रही.

साल्मे के मुताबिक़ बोरासे समुद्र तट के बार और क्लबों में फ़िलीपींस और अन्य देशों के पर्यटक भरे हुए हैं, लेकिन चीनी पर्यटकों की आमद से भरे रहने वाले रिज़ॉर्ट्स लगभग खाली पड़े हैं.

चेतावनी का असर

चीन की इस चेतावनी का असर हवाई यात्राओं पर भी पड़ा है.

शिबू एअर लाइंस ने सितंबर और दिसबंर के बीच की 149 उड़ानो को निरस्त कर दिया, इसके कारण उसे लगभग 24,138 यात्रियों का नुकसान होगा.

इमेज कॉपीरइट RAY TABAFUNDA

फ़िलीपींस के निजी कारोबारियों को उम्मीद है कि यह विवाद कम समय में सुलझ जाएगा.

फ़िलीपींस-चीन रिश्तों की जानकार प्रोफ़ेसर एलीन बावीरा कहती हैं कि इस तरह की सलाह को सही ठहराना मुश्किल हैं.

चीन की तरफ़ से 2012 में भी इसी तरह की यात्रा संबंधी चेतावनी जारी की गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार