न्यूयॉर्क में इबोला से प्रशासन चिंतित

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी शहर न्यूयॉर्क और न्यू जर्सी के गवर्नरों ने आदेश दिए हैं कि पश्चिम अफ़्रीक़ी देशों से आने वाले उन सभी यात्रियों को 21 दिनों के लिए अलग थलग रखा जाए जिनका संपर्क इबोला रोगियों से रहा है.

एंड्री कुओमो और क्रिस क्रिस्टी की ये संयुक्त घोषणा ऐसे समय में आई है जब एक दिन पहले ही डॉक्टर क्रेग स्पेन्सर को इबोला की पुष्टि हुई है जो कुछ समय पहले गिनी से लौटे थे.

दोनों गवर्नरों ने कहा कि शुक्रवार को अफ़्रीक़ा से लौटे एक और स्वास्थ्यकर्मी को अलग थलग कर दिया गया है लेकिन उनमें अभी इबोला के लक्षण नहीं पाए गए हैं.

इस बीच उन दो नर्सों को इबोला मु्क्त घोषित किया गया है जो टेक्सस में लाइबेरिया से आए इबोला मरीज़ का इलाज करते समय बीमारी हो गई थी.

इनमें से एक नर्स नीना फ़ाम को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. उन्हें राष्ट्रपति ओबामा ने व्हाइट हाउस आने का निमंत्रण दिया है. नर्स नीना फ़ाम ने राष्ट्रपति से मुलाक़ात भी की.

माली में इबोला

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस बीच माली में इबोला से पीड़ित दो वर्षीय बच्ची की मौत हो गई है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बात की पुष्टि की है कि यह बच्ची क़रीब 200 किलोमीटर दूर से बस में आई थी और इस दौरान कम से कम 40 लोग इस बच्ची के संपर्क में आए हैं जिन्हें अलग थलग कर लिया गया है.

इस बच्ची को उसकी दादी उस समय माली लेकर आईं जब गिनी में बच्ची की मां की मौत हो गई थी.

बीबीसी के अफ़्रीक़ा संवाददाता के अनुसार अब माली के सामने ये चुनौती है कि उन लोगों को खोजा जाए जो इस बच्ची के संपर्क में आए हो सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार