न्यूज़ अलर्ट: मोदी मिलेंगे पत्रकारों से

इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पत्रकारों से बातचीत नहीं करने को लेकर दबी ज़ुबान में आलोचना तो होती रहती है लेकिन शायद अब मोदी इस आलोचना को ख़त्म करना चाहते हैं.

आज मोदी भारतीय जनता पार्टी के कार्यालय में पत्रकारों से मिल रहे हैं. अब ये मुलाक़ात प्रेस कांफ्रेंस में तब्दील होगी या नहीं इसकी जानकारी तो नहीं है लेकिन इतना तय है कि कुछ सवाल जवाब हो सकते हैं.

कल ही एक जाने माने स्तंभकार ने इसी विषय पर लेख लिखा था कि क्यों मोदी पत्रकारों से बात नहीं करते हैं.

इबोला संकट

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका में इबोला को लेकर गंभीर क़दम उठाए जा रहे हैं. हालांकि पिछले दिनों टेक्सास में जो दो नर्सें इबोला से पीड़ित हुई थी वो ठीक बताई जा रही हैं और उनमें से एक से राष्ट्रपति बराक ओबामा ख़ुद मिले हैं.

इस बीच न्यूयॉर्क और न्यू जर्सी शहर में कहा गया है कि उन सभी लोगों को अलग-थलग रखा जाएगा जो पश्चिम अफ़्रीकी देशों से आ रहे हैं और जिनका किसी न किसी रूप में इबोला पीड़ितों से संपर्क हुआ है.

ये एक अप्रत्याशित क़दम है क्योंकि अफ़्रीकी देशों से बड़ी संख्या में लोग अमरीका की यात्रा पर जाते हैं.

ऐसे में देखना होगा कि अमरीका में कितने लोगों को हर दिन इबोला के संदेह में अलग-थलग रखा जाता है.

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री

इमेज कॉपीरइट AFP

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर बीजेपी और शिव सेना में सहमति की रिपोर्टें आ रही हैं.

हालांकि अभी तक इस बारे में कोई घोषणा नहीं हुई है लेकिन महाराष्ट्र की राजनीति को लेकर मुलाक़ातों और अटकलों का बाज़ार गर्म है.

जेठमलानी की चिट्ठी

इस बीच, वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर काले धन पर कार्रवाई करने की मांग की है.

भाजपा से जुड़े रहे जेठमलानी का कहना है कि उन्हें पार्टी से अधिक देश की चिंता है इसलिए उन्होंने चिट्ठी लिखी है.

संभवतः इस मुद्दे पर पार्टी नेताओं का कोई बयान आ सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार