सिडनी ओपेरा हाउस की मोहब्बत में डूबा शख़्स

  • 5 नवंबर 2014
इमेज कॉपीरइट Getty

किसी शख़्स को किसी इमारत से इतना प्यार हो सकता है कि उसकी जिंदगी का एकमात्र उद्देश्य बस वो इमारत हो जाए.

शायद आपको यकीन नहीं हो लेकिन सिडनी के स्टीव टुकालस ऐसे ही शख़्स हैं, जिन्होंने अपने जीवन के 45 साल सिडनी ओपेरा हाउस को दे दिए हैं.

स्टीव 1964 में ग्रीस से सिडनी आए थे, नाव के जरिए. जब वे नाव से उतर रहे थे, तो उन्होंने ओपेरा हाउस की निर्माणाधीन इमारत देखी.

तब उनकी उम्र महज 19 साल थी. उन्होंने तभी सोच लिया कि इस इमारत में काम करना है. कुछ ही सालों बाद, 1968 में उन्हें ये मौका मिल गया.

तब से 45 साल बीत चुके हैं. स्टीव की उम्र अब 70 साल की हो चुकी है और वे रिटायरमेंट की ज़िंदगी नहीं बिता रहे हैं बल्कि ओपेरा हाउस के एडवाइजर की भूमिका में अभी काम कर रहे हैं.

ख़ूबसूरत लेडी

हर दिन सुबह सुबर पांच बजे वे ओपेरा हाउस पहुंच जाते हैं. प्रत्येक शीशा, दरवाजे और फर्नीचर की सफ़ाई का खुद से ध्यान रखते हैं.

इस इमारत में बने कंक्रीट और तांबे की वस्तुओं को साफ सुथरा रखने के लिए उन्होंने ओलिव आयल (जैतून का तेल) और बेकिंग पाउडर का ख़ास सोल्यूशन भी तैयार किया है.

इस इमारत से उन्हें इतना लगाव क्यों है, पूछे जाने पर स्टीव ने बीबीसी रियल टाइम को बताया, "मुझे इस इमारत से प्यार है, यहां काम करना मुझे पसंद है. यहां काम करते हुए मैं कभी थकता नहीं."

इमेज कॉपीरइट Getty

ये भी अजीब संयोग है कि स्टीव की शादी भी ठीक उसी साल हुई जब उन्हें सिडनी के ओपेरा हाउस में काम मिला था. वे कहते हैं, "1968 में मुझे दो ख़ूबसूरत महिलाएं मिलीं. एक घर में और दूसरी सिडनी ओपरा हाउस के तौर पर. सिडनी ओपेरा हाउस मेरे लिए किसी सुंदर महिला से कम नहीं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार