इसराइली हमले में कार्रवाई नहीं: आईसीसी

  • 6 नवंबर 2014
तुर्की का मावी मारमारा जहाज़ इमेज कॉपीरइट AFP

अंतरराष्ट्रीय आपराधिक अदालत (आईसीसी) की मुख्य अभियोजक फतू बेनसूदा का कहना है कि वह वर्ष 2010 में ग़ज़ा जा रहे जहाज़ पर इसराइली कमांडो के हमले के मामले में कोई कार्रवाई नहीं करेंगी.

उनका कहना है कि इसमें एक जहाज़ पर हुए हमले को 'युद्ध अपराध मानने का तार्किक आधार' है, फिर भी वह कोई कार्रवाई नहीं करेंगी.

उनका ये भी कहना है कि आईसीसी को बड़े पैमाने पर हुए युद्ध अपराध को प्राथमिकता देनी होगी.

वर्ष 2010 की घटना में तुर्की के नौ लोग तब मारे गए थे जब वे एक जहाज़ मावी मारमारा में सवार होकर फ़लस्तीनी क्षेत्र में नाकाबंदी तोड़कर दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

तब कुल छह जहाज़ अंतरराष्ट्रीय जलसीमा में इसराइली तट से लगभग 130 किलोमीटर दूर मौजूद थे.

इसराइली कमांडो तब इनमें से सबसे बड़े तुर्की के मावी मारमारा जहाज़ पर हेलिकॉप्टर की मदद से रस्सियों के ज़रिए उतरे थे.

जहाज़ पर दोनों पक्षों के बीच झड़प हुई थी जहां इसराइली कमांडो ने गोलियां चलाई थीं जिनमें तुर्की के नौ लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार