पाक समर्थक राजनयिक के ख़िलाफ़ जांच

अमरीकी राजनयिक रॉबिन रफेल इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी विदेश विभाग का कहना है कि दक्षिण एशिया मामलों की पूर्व सहायक विदेश मंत्री और पाकिस्तान मामलों पर प्रशासन की वरिष्ठ सलाहकार रॉबिन राफ़ेल के ख़िलाफ़ एक संघीय जांच शुरू हुई है.

ये ख़बर सबसे पहले 'वाशिंगटन पोस्ट' अख़बार में छपी और अख़बार के अनुसार रॉबिन राफ़ेल के ख़िलाफ़ खुफ़िया मामलों से संबंधित जांच चल रही है जिसके तहत कई बार दूसरे देश के लिए जासूसी करना भी शामिल होता है.

अख़बार के मुताबिक़ राफ़ेल के दफ़्तर और घर पर 21 अक्तूबर को एफ़बीआई ने छापा मारा गया और कई दस्तावेज़ और सामान ज़ब्त किए गए हैं लेकिन फ़िलहाल कोई आरोप दर्ज नहीं हुआ है. उनके सुरक्षा पास को ज़ब्त कर लिया गया है.

विदेश विभाग की प्रवक्ता जेन साकी ने बीबीसी को बताया कि इस क़ानूनी जांच से वो वाक़िफ़ हैं और विदेश मंत्रालय जांच करनेवाली अन्य एजेंसियों के साथ पूरा सहयोग कर रहा है.

पाकिस्तान की समर्थक

Image caption राफ़ेल पाक समर्थक राजनयिक मानी जाती हैं.

वाशिंगटन में राफ़ेल को पाकिस्तान की एक बड़ी समर्थक की तरह देखा जाता है और अमरीका-पाकिस्तान रिश्तों में सुधार के लिए उन्होंने कई बार मध्यस्थता की है.

कश्मीर विवाद पर अपने बयानों के कारण वो भारतीय सरकारी और कूटनितक हलकों में लोकप्रिय नहीं रही हैं.

कुछ समय पहले जब पाकिस्तान स्थित अमरीकी दूतावास में सलाहकार के तौर पर उन्हें नियुक्त किया गया था तो कई लोगों ने इस पर सवाल उठाए थे.

ऐसा इसलिए कि अमरीकी विदेश सेवा से रिटायर होने के बाद रॉबिन राफ़ेल कैसिडी ऐंड ऐसोसिएट के लिए काम कर रही थीं जो कि पाकिस्तानी हुकूमत के लिए अमरीका में लॉबिइंग करती है.

ग़ौरतलब है कि राफ़ेल पाकिस्तान में राजदूत रहे आर्न्ल्ड राफ़ेल की पत्नी हैं. आर्नल्ड राफ़ेल की मौत 1988 में उसी विमान हादसे में हुई थी जिसमें राष्ट्रपति ज़िया उल हक़ की मौत हुई थी.

अमरीकी जांच एजेसी एफ़बीआई की तरफ़ से फ़िलहाल इस पर कोई बयान नहीं जारी हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार