पाकिस्तानः सेना ने 17 चरमपंथी मारे

पाकिस्तान का ख़ैबर इलाक़ा

पाकिस्तानी सेना का कहना है कि क़बीलाई इलाक़े ख़ैबर एजेंसी से 17 चरमपंथियों के शव बरामद किए गए हैं.

सेना का कहना है कि ये चरमपंथी एक सुरक्षा चौकी पर हमले के दौरान मारे गए हैं. हमला अफ़ग़ानिस्तान सीमा के नज़दीक हुआ है. इस इलाक़े में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ सेना का अभियान चल रहा है.

तालिबान ने सेना के इस दावे की पुष्टि नहीं की है और इसकी स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं की जा सकती है.

सेना को कोई नुक़सान हुआ है या नहीं इस बारे में जानकारी नहीं दी गई है.

पत्रकारों को अनुमति नहीं

Image caption सेना इस इलाक़े में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ व्यापक अभियान चला रही है.

पत्रकारों को पाकिस्तान के क़बीलाई इलाक़ों में जाने की अनुमति नहीं दी जाती है.

शुक्रवार को हुआ यह हमला पाकिस्तान तालिबान की ख़ैबर में सेना से लड़ रहे स्थानीय मिलीशिया की मदद के लिए लड़ाके भेजने के ऐलान के बाद हुआ है.

सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सुरक्षा चौकी पर हुए हमले का मुँहतोड़ जबाव दिया गया और चरमपंथी अपने 17 साथियों के शव छोड़कर भाग खड़े हुए.

अक्टूबर के बाद से इस इलाक़े में सेना और चरमपंथियों के बीच हिंसा में बढ़ोत्तरी हुई है जिस वजह से हज़ारों लोगों को घर छोड़ना पड़ा है.

संवाददाताओं का कहना है कि स्थानीय और विदेशी लड़ाके इस इलाक़े का इस्तेमाल पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान में हमले करने के लिए करते रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार