व्हाट्सऐप से शहर में कर्फ़्यू और मौतें?

  • 10 नवंबर 2014
ब्राज़ील, पुलिस इमेज कॉपीरइट Getty

उत्तरी ब्राज़ील में एक पुलिस अफ़सर के मारे जाने के बाद व्हाट्सऐप पर एक रहस्यमय संदेश फैला जिसमें लोगों से घर के अंदर रहने के रहने लिए कहा गया. अजीब संयोग ये है कि उत्तरी ब्राज़ील के उसी इलाके में उस रात दस लोग मारे गए.

पिछले मंगलवार को एंटोनियो मार्कोस दा सिल्वा फिग्यूरोदो को उत्तरी ब्राज़ील के बेलांग में गोली मार दी गयी थी. उनके मौत की ख़बर सोशल मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप के माध्यम से फैल गई.

कुछ ही घंटों बाद शहर को बाशिंदों को अजीबोगरीब संदेश मिलने लगे, जो उनके परिवार वाले और दोस्त फॉरवर्ड कर रहे थे. सभी संदेशों में एक ही सूचना थी.

कुछ संदेश टेक्स्ट फॉर्म में थे लेकिन जो संदेश सबसे लोकप्रिय हुआ वो एक ऑडियो संदेश था. इस संदेश में कहा गया था, "एक पुलिसवाले की हत्या हो गई है. हम क्षेत्र की सफाई कर रहे हैं."

एक अन्य संदेश में कहा गया, "कृपया घर में रहें. सड़कों पर मत घूमें."

लेकिन यह संदेश पुलिस की तरफ़ से नहीं भेजा गया था. यह कोई आधिकारिक घोषणा नहीं थी. लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि किसी नाराज़ पुलिसकर्मी ने अपने मारे गए साथी का बदला लेने के लिए ऐसा किया.

मन में डर

इमेज कॉपीरइट Getty

इन संदेशों से स्थानीय नागरिकों में डर बैठ गया है. ऐसे संदेश पाने वाले 19 वर्षीय जोआओ बतिस्ता ने बीबीसी ट्रेंडिंग से कहा, "मेरी यादाश्त में ऐसा पहली बार हुआ है जिससे पूरे शहर में भय है."

बतिस्ता ने बताया कि उन्हें ये संदेश अपने दोस्तों से मिले. उनके दोस्तों का कहना है कि उन्हें अपने दोस्तों से मिले.

उस रात दस लोगों की हत्या हुई. चश्मदीदों का कहना है कि हत्यारे मोटरसाइकिल पर सवार थे और वो छह घंटे तक सड़कों पर खुले आम घूमते रहे.

इलाक़े के लोगों ने कुछ तस्वीरें साझा की हैं जो मृतकों की तस्वीरें प्रतीत हो रही हैं.

तो क्या हत्याएँ ऑफ़-ड्यूटी पुलिसवालों ने की?

साओ पाओलो में मौजूद बीबीसी संवाददाता कैमिला कोस्टा कहती हैं, "हमें पूरी तरह से नहीं पता लेकिन लगता ऐसा ही है."

वो कहती हैं कि अगर ऐसा हुआ तो यह पहली बार नहीं होगा. इस साल की शुरुआत में ब्राज़ील के एक अन्य शहर कम्पीनस में एक पुलिसकर्मी की हत्या के बाद पुलिसवालों ने बदले में 12 लोगों को मार दिया था.

इमेज कॉपीरइट AP

हो सकता है कि इस मामले में पुलिसवालों ने व्हाट्सऐप का प्रयोग लोगों को सड़कों पर न आने देने के लिए किया हो लेकिन आमतौर पर ऐसे तरीके अपराधी समूह अपनाते हैं.

पुलिस पूरे ब्राज़ील में विरोधी गैंगों या पुलिस से होने वाली संभावितों परस्पर मुठभेड़ों के समय कर्फ़्यू लगाने के लिए व्हाट्सऐप के प्रयोग करने के मामलों की जाँच कर रही है.

बतिस्ता के अनुसार बेलांग में तनाव अभी बरक़रार है. वो कहते हैं अब कुछ नए संदेश घूम रहे हैं जिनमें कहा जा रहा है कि पुलिसवालों और अपराधियों के बीच मुठभेड़ का चक्र जारी रहेगा.

दूसरी तरफ़ उनके विश्वविद्यालय में कक्षाएँ स्थगित कर दी गई हैं. वो कहते हैं, "कुछ लोग अब भी घर से नहीं निकल रहे हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार