शॉल ओढ़ाकर सोशल मीडिया में छाए पुतिन

पेंग लीयुआन को शाल ओढ़ाते रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन इमेज कॉपीरइट AP

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन चीन की प्रथम महिला पेंग लीयुआन को एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग (एपेक) सम्मेलन के एक कार्यक्रम में शॉल ओढ़ाकर सोशल मीडिया में छा गए हैं.

चीनी जनता में पुतिन की एक ख़ास जगह है. हो सकता है कि यह सोवियत संघ और कम्युनिस्ट चीन के आपसी संबंधों की विरासत हो.

सोमवार को पुतिन उस समय सुर्खियों में छा गए जब उन्होंने एपेक के एक आयोजन में चीन की प्रथम महिला पेंग लीयुआन को शॉल ओढ़ाई.

सजीव प्रसारण

पुतिन की ओर से ओढ़ाई गई साल को पेंग लीयुआन ने कुछ ही देर में हटाकर अपनी काली जैकेट पहन ली.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption व्लादिमीर पुतिन ने इससे पहले जर्मनी की चांसलर मर्केल को इसी तरह शाल ओढ़ाई थी

यह सब कुछ बहुत ही कम समय में हुआ लेकिन टीवी पर इसका सजीव प्रसारण हो गया. चीनी इंटरनेट उपभोक्ताओं ने इसे हाथों-हाथ लिया और अपने वीबो अकाउंट पर इसकी तस्वीरें अपलोड कीं.

वीबो का उपयोग करने वाली (TuXiaonuan_sakura) ने पुतिन के इस काम की तारीफ़ करते हुए लिखा, ''अंकल पुतिन, आपने बहुत अच्छा किया.''

'हैप्पी झांग जियांग' ने भी रूसी राष्ट्रपति के इस काम की तारीफ की. उन्होंने लिखा, ''उन्हें पुतिन पसंद हैं. वह वास्तव में एक पुरुष हैं. वो कई महिलाओं के दिल की धड़कन हैं. कूल.''

शायद पुतिन के इस काम की विभिन्न मंचों पर चर्चा शुरू होने के बाद सरकारी टीवी चैनल ने इस फ़ुटेज को दिखाना बंद कर दिया. आधिकारिक सरकारी मीडिया में इसका जिक्र नहीं है.

रूस के गैस भंडार को ध्यान में रखते हुए एक उपयोगकर्ता ने लिखा है, ''रूस से आई ऊर्जा ने चीन और जर्मनी दोनों को गर्म किया है.''

संक्षिप्त जीवनी

इमेज कॉपीरइट Getty

इसके पहले आयोजित जी20 के सम्मेलन में व्लादिमीर पुतिन ने जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल को भी शॉल ओढ़ाई थी.

वहीं कुछ अन्य उपयोगकर्ताओं ने रूसी राष्ट्रपति की संक्षिप्त जीवनी भी लिखनी शुरू कर दी. इसमें लिखा था, नाम: पुतिन, योग्यता: शॉल ओढाना.

संयोग से 11 नवंबर को चीन में सिंगल्स डे मनाया जाता है. कुछ ने कहा, ''पुतिन अकेले कैसे आए.'' एक ने मजाक में लिखा, ''मेरी माँ पूछ रही थीं कि पुतिन का तलाक कैसे हुआ.''

चीन में सिंगल्स डे ऑनलाइन शॉपिंग का सबसे बड़ा दिन है. इसकी शुरुआत अकेले लोगों को समर्पित छुट्टी के रूप में हुई. इसे वैलेंटाइन विरोधी भी माना जाता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार