गैस उत्सर्जन पर 'ऐतिहासिक' समझौता

ओबामा-जिनपिंग इमेज कॉपीरइट Getty

ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन कम करने के मुद्दे पर चीन और अमरीका ने बीजिंग में नया समझौता किया है.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इस क़दम को 'ऐतिहासिक' बताया है.

समझौते के तहत अमरीका ने वर्ष 2025 तक उत्सर्जन का स्तर 2005 के मुक़ाबले 26 से 28 प्रतिशत तक कम करने का लक्ष्य रखा है.

चीन ने हालाँकि इस तरह का कोई लक्ष्य नहीं रखा है, लेकिन कहा है कि 2030 के बाद से कार्बन डाइऑक्साइड गैस के उत्सर्जन में कमी लाना शुरू कर देगा.

दोनों देश हवा और समुद्र में सैन्य दुर्घटनाएं कम करने की संभावनाओं पर काम करने पर भी राजी हुए हैं.

यह पहली बार है कि दुनिया में सबसे ज़्यादा ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जित करने वाला चीन गैस उत्सर्जन की अधिकतम सीमा तय करने पर राजी हुआ है.

समझौता इस मायने में भी अहम है कि चीन और अमरीका दुनिया में कुल कार्बन डाइऑक्साइड का 45 प्रतिशत उत्सर्जित करते हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार