सफ़ेद फूल बिका 274 करोड़ रुपये में

  • 22 नवंबर 2014
जॉर्जिया ओकीफ़ की पेंटिंग इमेज कॉपीरइट BBC World Service

जॉर्जिया ओकीफ़ की एक पेंटिंग किसी भी महिला पेंटर की सबसे महँगी कलाकृति बन गई है.

'जिम्सन वीड/व्हाइट फ्लॉवर नंबर-एक' नाम की पेंटिंग न्यूयॉर्क में गुरुवार को चार करोड़ 44 लाख डॉलर यानी लगभग 274 करोड़ रुपये में बिकी.

एक साधारण सफेद फूल की यह पेंटिंग ओकीफ़ ने 1932 में बनाई थी.

इस कलाकृति ने जोआन मिशेल की एक अनाम कृति के एक करोड़ 19 लाख डॉलर ( लगभग 73 करोड़ रुपए) में नीलामी के रिकॉर्ड को तोड़ दिया.

पेंटिंग के लिए होड़

नीलामी की आयोजक संस्था सॉदबी ने बताया कि दो लोगों के बीच इस पेंटिंग को पाने की होड़ थी.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption जॉर्जिया ओकीफ़ की बनायी पेंटिंग 'रेड पॉपी नंबर- छह.'

संस्था का अनुमान था इसकी नीलामी डेढ़ करोड़ डॉलर यानी लगभग 92 करोड़ रुपये के आसपास होगी.

दुनिया की अब तक की सबसे महंगी पेंटिंग फ्रांसिस बेकन की है जो 14 करोड़ 24 लाख डॉलर (लगभग 878 करोड़ रुपये) में बिकी थी.

ओकीफ़ का देहांत 1986 में 98 वर्ष की उम्र में हुआ था. वो फूलों को लार्ज-फॉर्मेट में चित्रित करने के लिए जानी जाती थीं.

इससे पहले, ओकीफ़ की सबसे महंगी पेंटिंग साल 2001 में 62 लाख डॉलर ( लगभग 38 करोड़ रुपए) में नीलाम हुई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार