दक्षिण कोरिया: मंत्रालय की 'सेक्सिस्ट' सलाह

south_korea_working_woman इमेज कॉपीरइट AFP

दक्षिण कोरिया के श्रम मंत्रालय का कहना है कि महिलाओं को इंटरव्यू के दौरान अपने संभावित नियोक्ताओं से कहना चाहिए कि वे कार्यस्थल पर 'सेक्स को लेकर थोड़े बहुत मज़ाक' का बुरा नहीं मानतीं.

कोरिया हेराल्ड अख़बार के अनुसार साक्षात्कार के दौरान महिलाओ से पूछे जाने वाले संभावित सवालों के 'आदर्श जवाबों' पर सलाह सरकारी रोज़गार जानकारी साइट पर दी गई है.

महिलाओं को मशवरा दिया गया है कि वह यौन प्रताड़ना पर पूछे गए सवालों का जवाब यह कहकर दें, "कई बार यह ज़रूरी हो जाता है कि मज़ाकिया लहज़े में ही इससे निपटा जाए."

परिवार के बारे में पूछे गए सवालों पर शादी करने के बारे में झूठ बोलने की सलाह दी गई थी क्योंकि "महिला कर्मचारियों का शादी के बाद नौकरी छोड़ना आम है."

'शिक्षित करेगा मंत्रालय!'

इन दिशा-निर्देशों में यह भी कहा गया है कि छोटे-मोटे कामों को लेकर भी महिलाओं को "पूरे समर्पण का वायदा करना चाहिए, चाहे यह एक कप कॉफ़ी बनाने जैसा काम ही क्यों न हो."

इमेज कॉपीरइट REUTERS

महिला अधिकार समूहों के इसे भेदभावपूर्ण बताए जाने के बाद इन दिशा-निर्देशों को हटा दिया गया है.

कोरियन काउंसिल ऑफ़ वीमेन ने एक बयान में कहा गया है, "किसी भी नियोक्ता का सिर्फ़ महिलाओं से शादी और बच्चों के बारे में पूछना सेक्सिस्ट (लैंगिक भेदभाव) है."

कोरिया टाइम्स ने एक संपादकीय लेख ने इन दिशा-निर्देशों को 'पूरी तरह सेक्सिस्ट' बताते हुए कहा कि इस मुद्दे पर कहने के लिए उसके पास 'शब्द नहीं हैं'.

वेबसाइट से इस पोस्ट को हटाने के बाद मंत्रालय ने कहा है कि वह अपने कर्मचारियों को लैंगिक समानता की शिक्षा देने पर विचार करेगा.

कोरिया में महिला और पुरुषों का शैक्षिक स्तर समान है और विश्वविद्यालय की डिग्रियां दोनों के पास समान संख्या में हैं लेकिन कार्यस्थल पर लिंगभेद मौजूद है.

साल 2013 में महिला स्नातकों को नौकरी देने के मामले में ओईसीडी (आर्थिक सहयोग और विकास संगठन) देशों में दक्षिण कोरिया आखिरी स्थान पर रहा था.

(बीबीसी न्यूज़ फ़्रॉम एल्सवेयर दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. बीबीसी न्यूज़ फ़्रॉम एल्सवेयर की ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें. बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार