दुनिया का सबसे बड़ा जहाज़़

इमेज कॉपीरइट allseas

दुनिया का सबसे बड़ा जहाज़ जो समुद्र में तेल के बड़े-बड़े रिग्स को उठाने में सक्षम है अब दक्षिण कोरिया से हॉलैंड के रॉटरडम बंदरगाह की तरफ़ चल पड़ा है.

पिएटर स्केल्ट बुधवार को दक्षिण कोरिया से निकला है और दिसंबर महीने में हॉलैंड पहुंचेगा जहां इस जहाज़ को पूरा किया जाएगा.

यह जहाज़ 124 मीटर चौड़ा और 382 मीटर लंबा है. इस जहाज़ को बनाया ही गया है समुद्र के तेल के कुएं खोदने के काम में बड़े-बड़े रिग्स को उठाने के लिए.

रिपोर्टों के अनुसार इस जहाज़ को बनाने में क़रीब तीन अरब डॉलर का ख़र्च आया है.

पीएटर स्केल्ट को बनाने का ठेका स्विस कंपनी आलसीज़ ने दिया है जो पहले से ही समुद्र में पाइप बिछाने और समुद्र में निर्माण के धंधे में है.

इमेज कॉपीरइट allseas

रॉटरडम बंदरगाह के साथ पार्टनरशिप में बन रहा यह जहाज़ बंदरगाह के एक ख़ास रुप से तैयार किए गए स्थान पर रखा जाएगा.

जहाज़ का निर्माण पूरा होने के बाद यह काले सागर में जाएगा पाइपलाइन बिछाने के लिए. इस जहाज़ का इस्तेमाल तेल के रिग्स बिछाने के साथ-साथ पाइप बिछाने के लिए भी होगा.

जहाज़ का निर्माण कोरिया की डेवू हेवी इंडस्ट्रीज़ ने किया है जो कि 48 हज़ार टन का भार उठा सकती है.

आलसीज़ अब पीएठर स्केल्ट जैसा ही एक और जहाज़ बनाने की योजना में है जो 400 मीटर लंबा और 160 मीटर चौड़ा होगा और 77 हज़ार टन भार ढो सकेगा. यह जहाज़ 2020 तक तैयार हो सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार