इंटरनेट साइट्स पर कितना है पोर्न?

वेब पोर्न

इंटरनेट पर अश्लील सामग्री कितनी है इस बारे में आमतौर पर बढ़-चढ़कर दावे होते रहे हैं.

बच्चों, किशोरों की सेक्स की समझ और उन पर पोर्नोग्राफ़ी के असर के बारे में ब्रिटेन के राजनेताओं, पंडितों और मीडिया के बीच गरमागरम बहस छिड़ी हुई है.

बहस में अलग-अलग आंकड़े सामने आ रहे हैं. लेकिन वास्तविकता की कसौटी पर इनमें से कुछ ही आंकड़े खरे उतरते हैं.

नेट फ़िल्टरिंग फ़र्म 'ऑप्टेनेट' के आंकड़ों के मुताबिक़ इंटरनेट पर मौजूद अश्लील सामग्री कुल सामग्री का 37 प्रतिशत है. पेज पर आधारित ये आकलन जून 2010 में एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से जारी किया गया था.

अलग-अलग दावे

लेकिन शोधकर्ताओं ने दुनिया की दस लाख सबसे लोकप्रिय साइटों का अध्ययन किया और पाया कि इनमें से केवल चार प्रतिशत साइटें ही पोर्न से जुड़ी थीं.

इन अध्ययनों से ये बात तो तय है कि पोर्न साइटों का आर्काइव बहुत बड़ा है और इसकी तुलना में इनके पेजों को देखने वालों की संख्या बहुत कम है.

सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर और गैजेट्स से जुड़ी सामग्रियों की वेबसाइट 'एक्स्ट्रीम टेक' में छपे एक लेख के मुताबिक़ इंटरनेट पर देखी जाने वाली साइटों में 30 प्रतिशत पोर्न साइटें हैं

प्लेब्वॉय साइटों की प्रबंधन कंपनी मैनविन के मुताबिक़ उसकी सभी साइटों पर हर दिन सात करोड़ विज़िटर्स आते हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption बच्चों, किशोरों की सेक्स की समझ और उन पर पोनोग्राफी के असर के बारे में ब्रिटेन में बहस तेज हो गई है.

साल 2010 में अश्लील सामग्री पर लंबे चौड़े अध्ययन से जुड़ी किताब 'वन बिलियन विकेड थॉट्स' के सह-लेखक डॉक्टर ओगी ओगास का कहना है कि अगर इंटरनेट पर मौजूदा दावों से कम पोर्न भी मौजूद हैं, तब भी ये बहुत है.

उन्होंने कहा, "14 प्रतिशत सर्च और चार प्रतिशत वेबसाइटें सेक्स से संबंधित हैं और ये एक बहुत बड़ी संख्या है."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार