ओबामा ने कहा, फ़ैसला नहीं बदलेगा

  • 22 नवंबर 2014
इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि वो आप्रवासन नीति में सुधार के अपने फ़ैसले को नहीं बदलेंगे.

आप्रवासन नीतियों में अब तक से सबसे बड़े बदलाव के राष्ट्रपति ओबामा के फ़ैसले की रिपब्लिकन सांसदों ने जम कर आलोचना की है.

ख़ासकर रिपब्लिकन पार्टी के सांसद और अमरीकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष जॉन बोएनर का कहना है कि राष्ट्रपति ओबामा एक बादशाह की तरह व्यवहार कर रहे हैं.

शुक्रवार को ओबामा ने राष्ट्रपति की हैसियत से अपने विशेषाधिकारों का प्रयोग करते हुए आप्रवासन नीति में एक बड़े बदलाव की घोषणा कर दी, जिससे अमरीका में ग़ैर क़ानूनी तरीक़े से रहे 50 लाख लोग निष्कासन से बच सकते हैं.

मतभेद

इमेज कॉपीरइट Getty

ओबामा ने कहा, "मैंने ऐसा कोई काम नहीं किया है, जो पहले कभी नहीं किया गया हो. इससे पहले भी ये किया जा चुका है. इसलिए आप्रवासन नीतियों में सुधार के फ़ैसले के मेरे अधिकार पर जब कांग्रेसी सांसद सवाल उठाते हैं तो मैं उनसे यही कहता हूं, आप बिल पास कर दें. उन्हें बिल पास करने से कोई भी नहीं रोक रहा.’’

इस समय अमरीका में लगभग एक करोड़ दस लाख लोग ऐसे हैं जिनके पास कोई दस्तावेज़ नहीं हैं. ये लोग काम करते हैं, पैसे लेते हैं लेकिन सरकार को ये कोई टैक्स नहीं देते हैं.

अमरीका की दोनों ही प्रमुख पार्टियां इसमें सुधार चाहती हैं लेकिन सुधार के तरीक़ों को लेकर दोनों में मतभेद हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार