जब विमान को यात्रियों ने मारा धक्का

साइबेरिया हवाई जहाज़ को धक्का इमेज कॉपीरइट THE SIBERIAN TIMES

साइबेरिया में शून्य से 50 डिग्री से नीचे के तापमान में एक हवाई जहाज़ के बंद हो जाने पर यात्रियों को कथित तौर पर जहाज़ को रनवे पर धक्का देना पड़ा. रूस के जांचकर्ता इस मामले की जांच कर रहे हैं.

यह जांच इंटरनेट पर एक वीडियो के वायरल हो जाने के बाद की जा रही है, जिसमें यात्री इगार्का हवाई अड्डे पर जहाज़ को धक्का मारते नज़र आ रहे हैं.

हालांकि एयरपोर्ट अधिकारियों ने धक्का मारने की किसी भी घटना से इनकार किया है और कहा है कि यात्री वजन कम करने के लिए जहाज़ से उतरे थे और फिर एक ट्रक जहाज़ को खींचकर ले गया था.

'ब्रेक पैड जमे'

समाचार एजेंसी एएफ़पी के अनुसार पश्चिमी साइबेरिया में परिवहन जांचकर्ता ने एक बयान में कहा, "हवा के कम दबाव के कारण चेसिस का ब्रेक सिस्टम जम गया था और एक खींचने वाला ट्रक उसे खींचकर टैक्सीवे पर ले जाने में नाकाम रहा ताकि उड़ान शुरू करवाई जा सके."

इमेज कॉपीरइट Reuters

जांचकर्ता ने एजेंसी से कहा, "फिर जहाज़ में मौजूद यात्री उतरे और जहाज़ को टैक्सीवे की तरफ़ धकेलना शुरू किया."

एक साइबेरियाई एयरलाइन काटेकाविया के इस जहाज़ में 74 यात्री सवार थे. जहाज़ इगार्का से साइबेरियाई शहर क्रास्नोयार्स्क जा रहा था.

काटेकाविया के तकनीकी निदेशक व्लादिमिर आर्टेमेंको ने रोसियस्काया गाज़ेटा डेली से कहा, "उस दिन सुबह तापमान माइनस 52 डिग्री तक गिर गया था. जहाज़ रनवे पर 24 घंटे तक खड़ा रहा और पायलट पार्किंग ब्रेक हटाना भूल गया था. इससे ब्रेक पैड जम गए."

उन्होंने कहा कि यात्रियों ने जहाज़ को तब तक धक्का मारा जब तक कि वह मुड़ नहीं गया और फिर खींचने वाले ट्रक ने मोर्चा संभाल लिया. इसके बाद उड़ान संभव हुई और यात्रा आराम से संपन्न हुई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार