मोदी, नवाज़, आईएस सब करें अमरीका का शुक्रिया

नरेंद्र मोदी और नवाज शरीफ इमेज कॉपीरइट AFP

ये शुक्रगुज़ार होने के दिन हैं यानी थैंक्सगिविंग मनाने का मौसम. तली-भुनी टर्की, रेड वाइन और हर छोटी-बड़ी दुकान में चल रही सेल से ज़रूरत-बेज़रूरत की चीजें खरीदकर जी भर जाए तो हर बात पर शुक्रिया कहने का मौसम.

बरसों पहले यहां अंग्रेज़ आए, बेचारे नेटिव इंडियन कहलाए जाने वाले लोगों ने आवभगत की, खाना खिलाया, खेती और शिकार करना सिखाया और फिर अंग्रेज़ों ने उन्हीं की ज़मीन से उन्हें भगाया, यहां हमेशा के लिए बस गए और बदले में कहा, शुक्रिया. तब से यहां थैंक्सगिविंग मन रहा है.

अंग्रेजों ने भारत में भी ये सब किया था, लेकिन बसे नहीं और थैंक्यू नहीं कहा. इसलिए हम और आप इतनी अच्छी परंपरा से वंचित रह गए.

हर चीज के लिए शुक्रिया

इमेज कॉपीरइट AFP

कितना अच्छा लगता है न हर बात पर शुक्रिया सुनना. एक साहब ने सोशल मीडिया पर लिखा है शुक्रिया मैक्डॉनल्ड्स और मेरे गद्देदार बिस्तर के लिए-हर दिन बर्गर खाता हूं फिर तान कर सो जाता हूं.

दूसरे ने कहा है, शुक्रिया पेट्रोल इतना सस्ता करने के लिए. अब बड़ी सी गाड़ी हो और पीने का पानी भी सुपरमार्केट से ही लाना हो तो सस्ते पेट्रॉल के लिए तो शुक्रिया बनता ही है.

माइली सायरस भी नहीं चूकीं, दो कपड़ों में अपनी तस्वीर इंस्टाग्राम पर डाल दी और कहा "एफ***ईंग थैंकफ़ुल". अपना-अपना स्टाइल है भाई. बुरा मानने वाली क्या बात है.

इमेज कॉपीरइट EPA

एक साहब ने शुक्रगुज़ार होने के तीन कारणों की तस्वीरें डाल दीं-एक किम कारदाशियां जैसी बिकिनी पहने महिला, एक गांजे का हरा-भरा खेत और फ़ुल सिग्नल वाला वाई-फ़ाई. ज़िंदगी से और क्या चाहिए, बहुत शुक्रिया.

किम कारदाशियां से याद आया. जब हाल में उन्होंने इंटरनेट पर अपना कारनामा दिखाया था...मेरा मतलब तस्वीरें दिखाई थीं तो मुझे मालूम है आप में से भी बहुतों ने दिल ही दिल में कहा होगा- शुक्रिया.

वैसे किम कारदाशियां के अलावा बहुत सारी बातें हैं न, जिसके लिए अमरीका को शुक्रिया कहा जा सके.

भाषणों के लिए शुक्रिया

इमेज कॉपीरइट AFP

कोक और पेप्सी के लिए शुक्रिया, बर्गर और आईफ़ोन के लिए शुक्रिया, पूरी दुनिया में लोकतंत्र फैलाने के लिए शुक्रिया, जॉर्ज डब्ल्यू बुश के लिए शुक्रिया, हथियार बेचने के लिए शुक्रिया, हथियारों का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह देने के लिए शुक्रिया.

हमारे फ़ोन और ईमेल पर नज़र रखने के लिए शुक्रिया, हमारे इतने क़रीब आने के लिए शुक्रिया, ओबामा के जानदार भाषणों के लिए शुक्रिया.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption मोदी ने ओबामा को ट्वीट कर बधाई दी है

थैंक्सगिविंग ख़त्म होकर क्रिसमस आ जाएगा, लेकिन लिस्ट नहीं खत्म होगी.

मोदी जी ने ट्वीट करके अमरीका को थैंक्सगिविंग की मुबारकबाद दी है. ट्विटर के डायरेक्ट मैसेज में शायद ओबामा से कहें इतने बरसों बाद अमरीका बुलाने के लिए शुक्रिया और फिर हमारे बुलावे पर छब्बीस जनवरी की परेड देखने आने पर शुक्रिया.

शुक्रिया अमरीका

इमेज कॉपीरइट Getty

नवाज़ शरीफ़ ओबामा से कहेंगे आप भारत जा रहे हैं, हमें ये बताने के लिए शुक्रिया.

अल क़ायदा और आईएस भी कहेंगे अमरीका का शुक्रिया. अमरीका न होता तो हम जिहाद किसके ख़िलाफ़ करते, जिहाद न करते तो हमें कौन पूछता. तहे दिल से शुक्रिया.

बंद करो ये शुक्रिया-शुक्रिया की रट, दिल बैठा जा रहा है सुन-सुनकर. ये कह रही हैं वो टर्कियां जिन्हें शुक्रिया सुनते ही बड़े-बड़े अमरीकी चाकूओं और गर्म-गर्म कड़ाही का ख़याल आने लगता है. कितनी एहसान फ़रामोश हैं- अमरीका के पेट में जा रही हैं, लेकिन फिर भी शुक्रगुज़ार नहीं हैं.

ख़ैर, आप सबका बहुत-बहुत शुक्रिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार