बांग्लादेश: ब्रितानी पत्रकार को जेल

बांग्लादेश में ब्रिटिश पत्रकार को सज़ा इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption डेविड बर्गमैन के वकील संवाददाताओं से फ़ैसले पर असंतोष व्यक्त करते दिखे.

बांग्लादेश की एक अदालत ने 1971 में देश के स्वतंत्रता संग्राम में मरने वाले लोगों की संख्या के सरकारी संस्करण पर सवाल उठाने के लिए एक ब्रितानी पत्रकार को अवमानना का दोषी पाया है.

न्यायाधीशों के अनुसार डेविड बर्गमैन ने 2011 में लिखे गए एक ब्लॉग पोस्ट में जान बूझकर इतिहास को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया था.

अदालत ने बर्गमैन पर 65 डॉलर का जुर्माना या सात दिन की क़ैद की सज़ा सुनाई है.

आधिकारिक आंकड़ों में बांग्लादेश के स्वतंत्रता संग्राम में मरने वालों की संख्या 30 लाख बताई गई थी जबकि बर्गमैन ने कहा था कि इसके समर्थन में सबूत नहीं मिले हैं.

तब के पूर्वी पाकिस्तान के अलगाववादियों के ख़िलाफ़ पाकिस्तानी सैन्य कार्रवाई, आंतरिक कलह और फिर तेरह दिन तक चले भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद बांग्लादेश अस्तित्व में आया था.

बांग्लादेशी सरकार लगातार कहती रही है कि इस संघर्ष में तीस लाख लोगो की मृत्यु हुई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार