जर्मनी की 'बहादुर लड़की' का अंतिम संस्कार

  • 4 दिसंबर 2014
टुगसी को अंतिम विदाई इमेज कॉपीरइट Getty

जर्मनी में हज़ारों लोगों ने बहादुर लड़की टूची को अंतिम विदाई दी, जिन्होंने दो किशोर लड़कियों को छेड़खानी से बचाने में अपनी जान गंवा दी.

जर्मन मीडिया के मुताबिक़ 15 नवंबर को इस छात्रा ने फ्रैंकफर्ट के पास ऑफनबाख में एक रेस्टोरेंट के शौचालय से लड़कियों के चिल्लाने की आवाज़ें सुनीं.

टूची ने देखा कि वहां कुछ लोग दो लड़कियों को परेशान कर रहे थे, उनसे छेड़छाड़ कर रहे थे.

टूची अलबायराक ने इन किशोरियों का उत्पीड़न कर रहे पुरूषों का विरोध किया.

इमेज कॉपीरइट AFP

बाद में इनमें से एक आदमी ने कार पार्किंग में टूची अलबायराक के सिर पर वार कर दिया, जिसके बाद वो कोमा में चली गई थी. शुक्रवार को उनका निधन हो गया.

टूची का शव उनके गृह नगर में दफ़न किए जाने से पहले, स्थानीय मस्जिद में रखी गई प्रार्थना सभा में सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया.

15 नवंबर को टूची पर हमला करने के आरोप में 18 वर्षीय एक पुरुष को गिरफ़्तार किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार