समय से पहले इसराइल आम चुनाव की ओर

इसराइल में प्रधानंत्री बेन्यामिन नेतान्याहू इमेज कॉपीरइट Reuters

इसराइल में प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतान्याहू ने अपनी ही सरकार के वित्त मंत्री यार लापिड और न्याय मंत्री जिपी लिवनी को बर्ख़ास्त कर दिया है.

इतना ही उन्होंने समय से पहले इसराइली संसद को भंग करने के संकेत भी दिए हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा करके वे स्पष्ट बहुमत हासिल करना चाहते हैं.

गठबंधन सरकार का नेतृत्व कर रहे नेतान्याहू का कहना है कि सरकार के ही मंत्री जब उसकी नीतियों और नेता की आलोचना करें तो कदम उठाना जरूरी हो जाता है.

नेतान्याहू के मुताबिक मौजूदा समय में गठबंधन की सरकार को चलाना संभव नहीं है.

इसराइल निर्धारित समय से दो साल पहले चुनाव की तरफ बढ़ रहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

मिली-जुली सरकार

इसराइल में दो साल पहले हुए आम चुनावों में नेतान्याहू की लिकुड पार्टी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी लेकिन उसे बहुमत नहीं मिला, जिसके बाद उन्हें एक मिली जुली सरकार बनानी पड़ी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

मिली जुली सरकार में हातनुआ पार्टी की नेता जिपी लिवनी भी हैं जिन्हें न्याय मंत्री का पद दिया गया जबकि वित्त मंत्री यार लापिड का संबंध येश अतिड पार्टी से है.

इसके अलावा कुछ और भी पार्टियां सत्ताधारी गठबंधन का हिस्सा हैं. लेकिन नेतान्याहू के निशाने पर लिवनी और लापिड ही खास तौर से हैं.

टीवी पर एक संबोधन में प्रधानमंत्री ने वित्त मंत्री यार लापिड और न्याय मंत्री त्सिपी लिवनी पर अपने ख़िलाफ़ साज़िश रचने का आरोप लगाया.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इसराइल निर्धारित समय से दो साल पहले चुनाव की तरफ बढ़ रहा है.

तो दूसरी ओर लापिड ने कहा है कि नेतान्याहू इसराइल को गैरजरूरी रूप से चुनावों की तरफ ले जा रहे हैं, वहीं लिवनी नेतान्याहू पर अतिवादी और भड़काऊ किस्म की नीतियां अपनाने का आरोप लगाती हैं.

बुधवार को इसराइली सांसद संसद को भंग करने वाले बिल पर मतदान करेंगें.

अगर संसद को इसी हफ्ते भंग कर दिया जाता है तो मार्च तक वहां नए चुनाव हो सकते हैं. इस बीच सर्वेक्षणों में नेतान्याहू की जीत ही भविष्यवाणियां की जा रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार