याद्दाश्त बेहतर करने का असली नुस्ख़ा

फ़ाइल फोटो इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES

अगर मैं आपसे कहूं कि बैठें और फ़ोन नंबरों की एक सूची याद करें या कुछ तथ्य याद करें, तो आप ये काम किस तरह करेंगे?

इस बात की पूरी-पूरी संभावना है कि आप ग़लत तरीक़ा अपनाएंगे.

मनोवैज्ञानिक मानते हैं कि 'सीखने' का क्षेत्र ऐसा है जिसके बारे में अधिकतर लोग ज़्यादा कुछ नहीं जानते हैं.

अच्छा तरीक़ा

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

तो सीखने का सबसे अच्छा तरीक़ा क्या है? हैरानी की बात यह है कि हम इस बारे में बहुत कम सोचते हैं.

शोधकर्ता जेफ़्री कार्पिक और हेनरी रॉडिगर बताते हैं कि परीक्षण कैसे तथ्यों के बारे में हमारी स्मरण शक्ति को मजबूत कर सकता है.

अपने प्रयोग में वे कॉलेज के छात्रों से कीनिया की आधिकारिक भाषा स्वाहिली और अंग्रेज़ी के शब्दों को सीखने को कहते हैं.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

स्वाहिली का शब्द देने का मतलब ये था कि इसे सीखने वालों के पास इस बात की संभावना बहुत कम है कि वे इसके लिए अपनी पुरानी जानकारी से मदद ले सकें.

शोध

सभी शब्दों को सीखने के एक हफ्ते बाद परीक्षा ली गई.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

आम तौर पर आप और हम क्या करते? पहले शब्दों की सूची बनाते, फिर उन्हें दोहराते और जो शब्द याद न होते उन्हें फिर दोहराते.

इससे होता यह है कि हमें जो शब्द याद हो जाते हैं उन्हें हम सूची से बाहर निकाल देते हैं और अपना ध्यान उन्हीं शब्दों पर केंद्रित करते हैं जो अभी तक सीखे नहीं जा सके हैं.

यह तरीक़ा याद करने के लिए सबसे अच्छा लगता है, लेकिन अगर चीज़ों को सही तरीक़े से सीखना है तो यह बेहद ग़लत तरीका है.

कार्पिक और रॉडिगर ने छात्रों से परीक्षा की तैयारी विभिन्न तरीके से करने को कहा- उदाहरण के लिए, छात्रों का एक ग्रुप सभी शब्दों को लगातार दोहराता और जांचता रहा, जबकि दूसरा ग्रुप सही शब्दों को छोड़ बाक़ी शब्दों पर ध्यान केंद्रित करता रहा.

चौंकाने वाले नतीजे

इन ग्रुपों की अंतिम परीक्षा के परिणाम चौंकाने वाले थे. परीक्षण के दौरान जो लोग सिर्फ़ छूटे हुए शब्द याद कर रहे थे, उन्हें सिर्फ़ 35 प्रतिशत शब्द याद थे.

इमेज कॉपीरइट SCIENCE PHOTO LIBRARY

जबकि सूची से शब्द नहीं हटाने वाले लोगों को 80 प्रतिशत तक शब्द याद थे.

इससे साफ़ है कि सीखने का सबसे अच्छा तरीक़ा अपने स्मरण से तथ्यों को याद करना या दोहराना है.

जबकि ज़्यादातर स्टडी गाइड में बताया जाता है कि उन तथ्यों को दोहराने से बचना चाहिए जो कि आपके स्मरण में हैं. यह सलाह एकदम ग़लत है.

आपको अंतिम परीक्षा के समय तक यदि तथ्यों को याद रखना है तो आपको सभी सीखे तथ्यों को दोहराते रहना चाहिए.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहाँ पढ़ें जो बीबीसी फ्यूचर पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार