हांगकांग छात्र नेता ने हड़ताल रोकी

  • 6 दिसंबर 2014
जोशुआ वांग इमेज कॉपीरइट AFP

हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनों का चेहरा बन गए युवा छात्र नेता जोशुआ वांग ने अपनी चार दिन से जारी भूख हड़ताल ख़त्म कर दी है.

वांग ने कहा कि वे डॉक्टरों की सलाह पर अपनी 108 घंटों से जारी भूख हड़ताल स्थगित कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि इसके बावजूद प्रदर्शनकारियों की लड़ाई जारी रहेगी.

तीन अन्य छात्र अभी भी भूख हड़ताल पर हैं.

2017 में हांगकांग का अगला नेता चुनने के लिए होने वाले चुनावों में पूरी आज़ादी की मांग को लेकर दो महीनों से प्रदर्शन चल रहा है.

छात्र संगठनों के इन प्रदर्शनों में शुरुआत में दसियों हज़ार लोग शामिल हुए, पर हाल के दिनों में प्रदर्शनकारियों की संख्या में कमी आई है.

भूख हड़ताल

इमेज कॉपीरइट
Image caption वांग सोमवार से भूख हड़ताल पर थे.

वांग और अनके साथी छात्रों ने सोमवार को अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू की थी.

वे प्रजातांत्रिक सुधारों की मांग कर रहे हैं.

हालांकि, सरकार ने प्रदर्शनकारियों की मांगें ठुकरा दी हैं.

अपने फ़ेसबुक पन्ने पर भूख हड़ताल ख़त्म करने की घोषणा करते हुए वांग ने कहा, "भले ही मैं भूख हड़ताल ख़त्म कर रहा हूं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि सरकार हमारी मांगों को नज़रअंदाज़ करे."

हांगकांग के संवैधानिक और मेनलैंड मामलों के विभाग के सचिव रेयमंड टैम ने कहा, "एक सरकार के रूप में हम कोई भी अवैध तरीक़ा, जैसे राज़ी करने के लिए भूख़ हड़ताल करना, स्वीकार नहीं करेंगे."

चीन का कहना है कि 2017 में वही नेता चुना जाएगा, जिसे चीन का अनुमोदन प्राप्त होगा.

हालांकि अर्ध-स्वायत्तशासी हांगकांग के लोग इसे प्रजातंत्र के ख़िलाफ़ बताकर पूर्ण प्रजातंत्र की मांग कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार