अमरीकी पत्रकार और द. अफ़्रीकी शिक्षक को गोली मारी

ल्यूक सोमर्स इमेज कॉपीरइट EPA

अल क़ायदा की अरब शाखा चरमपंथियों के क़ब्ज़े से छुड़ाए जाने की कोशिशों में अमरीकी पत्रकार ल्यूक सोमर्स और दक्षिण अफ़्रीकी अध्यापक पियरे कोर्की की मौत हो गई है.

अल क़ायदा के अरबी प्रयाद्वीप की शाखा (एक्यूएपी) ने अगवा किए गए ल्यूक सोमर्स और दक्षिण अफ़्रीकी अध्यापक पियरे कोर्की को यमन में बंधक बना कर रखा था. अमरीका इस संगठन को अल क़ायदा की सबसे ख़तरनाक़ शाखा मानता है.

अमरीका ने उन्हें बचाने के लिए सैन्य अभियान चलाया था, जो नाकाम रहा.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ल्यूक सोमर्स को पिछले साल अगवा कर लिया गया था.

अमरीकी अधिकारियों ने न्यूयॉर्क टाइम्स को बताया, "छापे के दौरान ल्यूक सोमर्स और कोर्की को अपहरणकर्ताओं ने गोली मार दी, जिसके बाद उनकी मौत हो गई."

ल्यूक की बहन लूसी सोमर्स ने समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस से कहा है, "एफ़बीआई ने उन्हें ल्यूक की मौत की जानकारी दी है."

ब्रिटेन में पैदा हुए ल्यूक सोमर्स को यमन में 2013 में अग़वा किया गया था.

हाल ही में सामने आए एक वीडियो में वह अपनी रिहाई के लिए मदद मांगते दिखे थे.

इसके बाद सोमर्स की मां और उनके भाई ने अपहर्ताओं से वीडियो अपील की थी कि वो ल्यूक को रिहा कर दें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)