उबर पर स्पेन समेत कई देशों में प्रतिबंध

इमेज कॉपीरइट AFP

दिल्ली में उबर की एक टैक्सी में बलात्कार की कथित घटना के बाद कुछ देशों ने अपने यहाँ इस टैक्सी कंपनी की सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया है.

इस घटना ने दुनिया भर में लोगों का ध्यान खींचा है. दिल्ली सरकार ने उबर की सेवाओं पर प्रतिबंध लगाकर कंपनी को काली सूची में डाल दिया है.

स्पेन की एक अदालत ने मंगलवार को उबर की सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया. अदालत का कहना था कि इस कंपनी ने किराए से जुड़े क़ानूनों का उल्लंघन किया है.

कंपनी का दावा

थाईलैंड ने भी उबर की सेवाओं को प्रतिबंधित कर दिया है. इसके अलावा इस कंपनी को जर्मनी, नीदरलैंड और अमरीका के सैन फ़्रांसिस्को में भी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption उबर की टैक्सी में हुई बलात्कार की घटना का देशभर में विरोध हो रहा है.

नीदरलैंड की अदालत ने इस हफ्ते उबर की उस व्यवस्था को अवैध बताया जिसमें उसके ग़ैर पेशेवर ड्राइवर सामान्य टैक्सी सेवा से आधी क़ीमत पर अपनी सेवाएं ऑफर करते हैं.

सैन फ़्रांसिस्को में उबर के एक ड्राइवर पर एक छह साल की बच्ची को कथित तौर पर कुलचने का आरोप लगाया गया है.

मंगलवार को सैन फ़्रांसिस्को और लॉस एंजिलिस के अधिकारियों ने उबर के खिलाफ अपने ड्राइवरों की जांच और किराए को लेकर भ्रमित करने को लेकर एक याचिका दायर की.

वहीं उबर के मुख्य कार्यकारी टारविस कालानिक ने पिछले हफ्ते लिखे एक ब्लॉग में बताया था कि उबर दुनिया के 50 देशों के 250 शहरों में अपनी सेवाएं दे रही है.

उन्होंने लिखा था, "12 महीने पहले की तुलना में हम अब छह गुना बढ़ चुके हैं. पिछले साल की तुलना में इस साल हमने तेज़ी से विकास किया.''

उन्होंने लिखा था,''यह प्रगति असाधारण है. लेकिन आने वाले सालों में इसकी वास्तविक पहचान होगी और शहरों में इसका प्रभाव नज़र आएगा.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार