पाकिस्तान: 10 बड़े चरमपंथी हमले

एक घायल छात्र को अस्पातल ले जाते लोग इमेज कॉपीरइट AP

पेशावर स्थित आर्मी स्कूल पर पाकिस्तानी तालिबान का हमला किसी भी स्कूल पर हुआ अब तक का सबसे बड़ा हमला है.

इस हमले में 132 बच्चों समेत 140 से अधिक लोग मारे गए.

आइए नज़र डालते हैं पाकिस्तान में पिछले कुछ वर्षों में हुए प्रमुख हमलों पर:

हमलों का इतिहास

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption रावलपिंडी में रैली को संबोधित करती बेनज़ीर भुट्टो

दिसंबर 2007: पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो की 27 दिसंबर को हुए एक हमले में मौत.

सितंबर 2008 : इस्लामाबाद के मैरियट होटल पर हुए आत्मघाती हमले में 53 लोगों की मौत.

अगस्त 2009 : पेशावर में हुए आत्मघाती हमले में 120 लोगों की मौत.

इमेज कॉपीरइट Reuters

जनवरी 2010 : उत्तर-पश्चिम पाकिस्तान के लाकी मारवात में एक वॉलीबाल मैच के दौरान हुए आत्मघाती हमले में 100 से अधिक लोगों की मौत.

अक्तूबर 2012 : स्वात घाटी में लड़कियों के अधिकारों की वकालत करने वाली मलाला युसुफ़ज़ई पर हमला.

नवंबर 2012 : रावलपिंडी में शियाओं के एक धार्मिक जुलूस पर हुए आत्मघाती हमले में 23 लोगों की मौत.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पेशावर के आर्मी स्कूल पर हुए आत्मघाती हमले को अफ़ग़ान तालिबान ने ग़ैर-इस्लामिक बताया है.

जनवरी 2013: क्वेटा में लश्कर-ए-झंगवी का हमला, 92 शियाओं की मौत.

फ़रवरी 2013 : क्वेटा में शियाओं पर हुए हमले में 89 लोगों की मौत. लश्कर-ए-झंगवी ने ली ज़िम्मेदारी.

सितंबर 2013 : पेशावर की एक चर्च पर हुए दोहरे आत्मघाती हमले में 80 से अधिक लोगों की मौत.

जून 2014: कराची एयरपोर्ट पर पाकिस्तानी तालिबान का हमला, 38 लोग मारे गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार