पाक: छह चरमपंथियों की फांसी पर दस्तख़त

नवाज़ शरीफ़, जनरल राहील शरीफ़ इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान में सेना का कहना है कि सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ़ ने कोर्ट मार्शल में मौत की सज़ा पाने वाले छह चरमपंथियों को फांसी देने संबंधी वारंट पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.

सेना की तरफ़ से जारी एक बयान में कहा गया है कि इन क़ैदियों को सैन्य अदालत पहले ही मौत की सज़ा सुना चुकी है. बयान में उनके नाम नहीं दिए गए हैं.

दूसरी तरफ़ पाकिस्तान के आंतरिक मंत्रालय ने 17 ऐसे क़ैदियों के नाम ज़ाहिर किए हैं जिन्हें फांसी दी जाएगी.

याद रहे कि पाकिस्तान के प्रधान मंत्री नवाज़ शरीफ़ ने पेशावर में स्कूल में हुए चरमपंथी हमले में 132 बच्चों समेत कुल 141 लोगों के मारे जाने के बाद मौत की सज़ा पाए चरमपंथियों की फांसी पर लगी रोक हटाने की घोषणा की थी.

शनिवार को बैठक

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption जनरल राहील शरीफ़ के सामने बड़ी चुनौती

उधर दहशतगर्दी के मुक़दमें में मौत की सज़ा पाने वाले क़ैदियों के बारे में बातचीत के लिए गृह सचिव ने शनिवार को एक बैठक बुलाई है.

पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग के पास मौजूद आंकड़ों के मुताबिक़ पाकिस्तान की जेलों में इस समय साढ़े आठ हज़ार के लगभग ऐसे क़ैदी हैं जिन्हें मौत की सज़ा सुनाई जा चुकी है और उनकी तमाम अपील भी ख़ारिज की जा चुकी हैं.

लेकिन एक ग़ैर सरकारी संगठन जस्टिस प्रोजेक्ट पाकिस्तान की तरफ़ से हाल ही में जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इन मुजरिमों में से 10 से 12 फ़ीसदी क़ैदी ऐसे हैं जिन्हें आतंकनिरोधी क़ानून के तहत मौत की सज़ा सुनाई गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार