'ग़ैर ओपेक देशों के कारण' गिरे तेल के दाम

तेल की क़ीमतें गिरी,ग़ैर ओपेक उत्पादक ज़िम्मेदार इमेज कॉपीरइट Getty

संयुक्त अरब अमीरात के तेल मंत्री सुहेल अल मज़रुई ने तेल की क़ीमतों में आई भारी गिरावट के लिए ओपेक से बाहर के तेल उत्पादक देशों को ज़िम्मेदार ठहराया है.

ओपेक पेट्रोलियम उत्पाद निर्यात करने वाले 12 देशों का संगठन है.

मज़रुई ने कहा कि इन देशों ने ग़ैरज़िम्मेदाराना तरीके से अधिक तेल उत्पादन किया.

पिछले कुछ महीनों में कच्चे तेल के दाम लगातार गिरे हैं और इनमें 40 प्रतिशत तक की कमी आई है.

कैसे रुकेगी गिरावट?

अबू धाबी में शुरू हई अरब तेल उत्पादक देशों की बैठक में मज़रुई ने कहा कि नए साल में तेल की क़ीमतें स्थिर हो सकती हैं, बशर्ते तेल उत्पादक देश के उत्पादन में इज़ाफ़ा न करें.

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption पिछले कुछ महीनों में कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट आई है

सऊदी अरब के तेल मंत्री अली अल नईमी ने कहा कि वर्तमान अस्थिरता को हल करने का सबसे अच्छा तरीक़ा यह है कि सबसे कुशल उत्पादकों को तेल उत्पादन करने दिया जाए.

ओपेक में सबसे मज़बूत स्थिति में माने जाने वाले सऊदी अरब का कहना है कि तेल क़ीमतें बढ़ाने के लिए उत्पादन में कटौती नहीं की जानी चाहिए, हालाँकि ईरान और रूस ने तेल उत्पादन में कमी लाने की अपील की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार