एयर एशिया: 'विमान के समुद्र में गिरने के संकेत'

  • 29 दिसंबर 2014
एयर एशिया के लापता विमान में सवार लोगों के परिजन इमेज कॉपीरइट EPA

एयर एशिया के लापता विमान क्यूज़ेड 8501 की तलाश फिर से शुरू कर दी गई है.

तलाश कार्य से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि शुरूआती जानकारी के आधार पर हवाई जहाज़ के समुद्र में गिरने के संकेत मिल रहे हैं.

ये विमान इंडोनेशिया के सुरबाया शहर से सिंगापुर जा रहा था और इसमें 162 यात्री सवार थे.

इमेज कॉपीरइट EPA

अधिकारी बैमबैंग सोलिस्तियो ने कहा कि इंडोनेशिया के पास ऐसी तकनीकी क्षमता नहीं है कि वो विमान को समुद्र तल से निकाल सके.

उन्होंने दूसरे देशों से मदद की अपील की है. जावा समुद्र के बेलीतुंग द्वीप के ईर्द-गिर्द विमान की तलाश की जा रही है.

कई जहाज़, हेलिकॉप्टर लगाए

एयर एशिया के मालिक टॉनी फ़र्नांडिस ने इसे अपने जीवन की सबसे ख़राब घटना बताया.

इमेज कॉपीरइट Getty

उन्होंने कहा, "विमान में सवार लोगों के रिश्तेदारों और क्रू टीम के परिवारों की चिंता हमारी पहली प्राथमिकता है. इसके अलावा फ़िलहाल हम कुछ नहीं सोच रहे हैं."

विमान को खोजने में इंडोनेशिया के 12 समुद्री जहाज़, तीन हेलिकॉप्टर और पांच मिलिट्री एयरक्राफ़्ट विमान लगे हुए हैं.

इसके अलावा मलेशिया का एक सी-130 विमान, तीन जहाज़ और सिंगापुर का एक सी-130 विमान भी तलाश कार्य में जुटे हैं.

ऑस्ट्रेलिया भी इस मिशन में सहयोग दे रहा है. विमान की बेलीटांग द्वीप के आसपास खोजा जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty

इंडोनेशिया के यातायात मंत्रालय ने कहा, "हमारा पहला मक़सद विमान खोजना है. इसके लिए हम हर संबंधित देश के साथ इस कार्य में पूरा सहयोग कर रहे हैं.

इस हादसे के बाद सोमवार को कुआलालंपुर शेयर बाज़ार में शुरुआती तौर पर एयर एशिया के शेयरों में 11.6 फ़ीसदी की गिरावट दर्ज की गई.

ख़राब मौसम, असामान्य रूट

इमेज कॉपीरइट Getty

ये विमान स्थानीय समयानुसार रविवार सुबह पांच बजकर 35 मिनट पर इंडोनेशिया के सुरबाया शहर से रवाना हुआ था.

इसे स्थानीय समय सुबह आठ बजकर 30 मिनट पर सिंगापुर पहुंचना था. लेकिन सुबह छह बजकर 24 मिनट पर इसका कंट्रोल रूम से आख़िरी बार संपर्क हुआ था.

विमान के पायलट ने ख़राब मौसम के मद्देनज़र विमान के लिए असामान्य रूट की मांग की थी लेकिन किसी तरह की इमरजेंसी घोषित नहीं की थी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)