अल-क़ायदा के कथित नेता लिबी की मौत

अल लिबी का स्केच इमेज कॉपीरइट Reuters

कीनिया और तंज़ानिया में अमरीकी दूतावासों पर वर्ष 1998 में बम हमले की साज़िश रचने के प्रमुख अभियुक्तों में से एक अबु अनस अल-लिबी की मौत हो गई है.

कीनिया और तंज़ानिया में अमरीकी दूतावासों पर बम हमलों में 220 से अधिक लोग मारे गए थे.

लिबी को न्यूयॉर्क की एक अदालत में पेश किया जाना था.

लिबी की पत्नी और वकील ने बताया कि लिबी की शुक्रवार को अस्पताल में मौत हुई. ख़बरों के मुताबिक़ उन्हें लीवर का कैंसर था.

लीबिया से गिरफ़्तारी

चरमपंथी संगठन अल-क़ायदा के कथित नेता लिबी को अमरीकी सुरक्षा बलों ने वर्ष 2013 में लीबिया की राजधानी त्रिपोली से छापेमारी के दौरान पकड़ा था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

लिबी का असली नाम नाज़िह अब्दुल हमीद अल-रुक़ाई था.

हालांकि लिबी अमरीकी दूतावासों पर हमलों के लिए उन पर लगाए गए आरोप ख़ारिज करते रहे थे.

समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक़, उनकी पत्नी ने शनिवार को अमरीकी सरकार पर लिबी के 'अपहरण, उनका ग़लत इलाज करवाने और हत्या' का आरोप लगाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार