बीयर बोतल पर गांधी, कंपनी ने मांगी माफ़ी

  • 5 जनवरी 2015
गांधी बॉट बीयर इमेज कॉपीरइट newenglandbrewing.com

एक अमरीकी कंपनी ने अपनी बीयर की कैन और बोतलों पर महात्मा गांधी की तस्वीर लगाए जाने के बाद अब माफ़ी मांग ली है.

कंपनी ने हैदराबाद की एक अदालत में याचिका के बाद ऐसा किया.

याचिका में कंपनी पर महात्मा गांधी के 'अपमान' का आरोप था.

हालांकि कनेक्टिकट स्थित न्यू इंग्लैंड ब्रूईंग नामक इस कंपनी का कहना है कि उनका इरादा महात्मा गांधी के प्रति सम्मान व्यक्त करना था.

कंपनी ने दावा किया कि इसके लिए उन्होंने महात्मा गांधी के पौत्र और पौत्री से बात भी की थी, जिन्होंने बोतल पर लेबल की प्रशंसा की थी.

इस बीयर ब्रेंड का नाम गांधी बॉट है. न्यू इंग्लैंड के मुताबिक गांधी बॉट में अमरीकी हाप्स की तीन प्रकार की बीयर का मिश्रण है.

दंडनीय अपराध

इमेज कॉपीरइट new england website

हैदराबाद स्थित वकील सुंकारी जनार्दन ने मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट, साइबराबाद के समक्ष याचिका दायर कर कहा था कि शराब के डिब्बे पर गांधी की तस्वीर और उनका विवरण, भारतीय कानूनों के तहत दंडनीय अपराध है.

याचिका के मुताबिक यह अपराध प्रीवेंशन ऑफ़ इंसल्ट्स टू नेशनल ऑनर एक्ट, 1971 और आईपीसी की धारा 124-ए (भड़काऊ शब्द, संदेश या तस्वीर का प्रयोग) के तहत आता है.

हालांकि कंपनी के सहयोगी मैट वेस्टफाल का कहना है, "हमारा मकसद किसी को आहत करने का नहीं था. लेकिन यदि इससे भारतीय लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं तो हम माफ़ी चाहते हैं."

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए