फ़लस्तीनियों को पैसे न देने पर अमरीकी विरोध

महमूद अब्बास इमेज कॉपीरइट afp
Image caption हमास के नेता महमूद अब्बास ने पिछले सप्ताह ही इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट में शामिल होने के लिए समझौता किया है.

इसराइल द्वारा कर से जुटाए गए पैसे को फ़लस्तीनियों को दिए जाने पर रोक लगाए जाने का अमरीका ने विरोध किया है.

इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट (आईसीसी) में फ़लस्तीन के शामिल होने के विरोध में इसराइल ने यह फ़ैसला किया है.

पिछले शनिवार को इसराइली अधिकारियों ने कहा था कि पिछले महीने फ़लस्तीनी प्राधिकरण के नाम पर लिए गए 1270 लाख डॉलर (क़रीब 805 करोड़ रुपए) रोक लिए गए हैं.

अमरीकी विदेश विभाग के प्रवक्ता जेन साकी ने कहा है कि इसराइल के इस क़दम से क्षेत्र में तनाव बढ़ेगा.

अमरीकी अनुदान

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने कहा, "हम दोनों पक्षों से अपील करते हैं कि किसी भी तरह के तनाव बढ़ाने वाले काम न करें, जिससे सीधी बातचीत के पटरी पर लौटने में मुश्किल खड़ी हो. यह इसी तरह की कार्रवाई है."

उन्होंने यह भी कहा कि अमरीका फ़लस्तीनी कार्रवाई से भी बहुत चिंतित है.

आईसीसी में शामिल होने को लेकर जेन साकी ने कहा कि फ़लस्तीनी क़दम से फ़लस्तीनी प्राधिकरण को मिलने वाले अमरीकी अनुदान में दिक़्क़त आ सकती है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption फ़लस्तीन के पुनर्निर्माण में आ सकती हैं मुश्किलें.

माना जा रहा है कि आईसीसी में शामिल होकर फ़लस्तीनी संगठन इसराइल पर युद्ध अपराध के आरोपों को आगे बढ़ाना चाहता है.

इसराइल फ़लस्तीनियों के नाम पर कर संग्रह करता है और हर महीने 10 करोड़ डॉलर फ़लस्तीनी प्राधिकरण को ट्रांसफ़र करता है. प्राधिकरण के कुल बजट की यह दो तिहाई राशि है.

पिछले अप्रैल में इसराइल ने प्रतिमाह दी जाने वाली इस राशि को रोक लिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार