तैयार है बाइक राइडर्स के लिए एयरबैग

  • 14 जनवरी 2015
बाइक एयरबैग इमेज कॉपीरइट ALPINESTARS

सुरक्षा के लिए एयरबैग अभी सिर्फ़ कारों में ही इस्तेमाल होते हैं, लेकिन अब मोटरसाइकिल सवारों के लिए एयरबैग की तैयारी है.

साइकिल स्पोर्ट्स आउटवीयर बनाने वाली कंपनी एल्पाइनस्टार्स ने बाइक सवारों के लिए एयरबैग तैयार किया है.

दुर्घटना की स्थिति में ये एयरबैग बाइक राइडर्स को गंभीर चोटों से बचाएगा.

बनियान में एयरबैग

बनियान के आकार का यह एयरबैग शरीर में जैकेट की तरह फिट हो जाएगा. इस एयरबैग की ख़ासियत है कि इसकी मोटाई बहुत कम रखी गई है और रक्षा प्रणाली पर अधिक ज़ोर दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट ALPINESTARS

इसके लिए बाइक चलाने वाले को अपनी जगह या शैली में बदलाव करने की आवश्यकता नहीं होगी.

जैसे ही टेक-एयर स्ट्रीट नामक एयरबैग के सेंसर्स को दुर्घटना का आभास होगा, (सेंसर्स 30 से 60 मिलीसेकंड में दुर्घटना की पहचान कर लेंगे.) दो सिलेंडरों में भरी गई कंप्रेस्ड गैस इस एयर बैग में भर जाएगी.

इमेज कॉपीरइट ALPINESTARS

यह रक्षा प्रणाली बनियान के अंदर सिली हुई है. इसके बाद इसे कंपनी के वाल्पाराइसो और वाइपर जैकेट मॉडल में जिप से बंद किया गया है.

एयरबैग कंट्रोल यूनिट को एक ठोस हिस्से में फिट किया गया है. साथ ही रीढ़ की हड्डी की सुरक्षा के लिए भी रक्षा प्रणाली विकसित की गई है.

जिप बंद, एयर बैग स्टार्ट

जैसे ही बाइक सवार इस जैकेट की जिप बंद करता है और टेक-एयर स्ट्रीट को बंद करता है, रक्षा प्रणाली सक्रिय हो जाती है.

इमेज कॉपीरइट ALPINESTARS

एयरबैग को आगे और पीछे लगाया गया है. जिससे दुर्घटना की स्थिति में पीठ, कंधे, किडनी का हिस्सा और छाती को चोटों से बचाया जा सके.

बाइक राइडर को बहुत ज़ोर से दबाने पर ही उसके एयरबैग पहने होने का पता चल सकता है. हालाँकि एयर बैग से बाइक राइडर ऐसा लगता है जैसे कि उसने तीन स्वेटर पहने हुए हों.

टेक एयर सिस्टम का मोटरसाइकिल से कोई संबंध नहीं है, इसलिए बाइक सवार किसी भी बाइक में इस एयरबैग का इस्तेमाल कर सकता है.

बैटरी करनी होगी चार्ज

इमेज कॉपीरइट KAWASAKI

बस बाइक राइडर को सिस्टम की बैटरी को चार्ज करना आवश्यक है. सिस्टम की बैटरी लगभग 25 घंटे चल जाती है.

बाइक सवार की बांह पर लगी एक पट्टी से पता चल जाता है कि बैटरी अभी कितनी चार्ज्ड है.

लगभग एक दशक के शोध के बाद बाइक राइडर्स के लिए यह एयरबैग विकसित हो सका है.

एल्पाइनस्टार का दावा है कि यह एयरबैग माइनस 10 डिग्री सेल्सियस से लेकर 50 डिग्री सेल्सियस तापमान तक काम कर सकता है.

सुविधाजनक

इस एयरबैग का सफल परीक्षण बाइस सर्किट्स पर भी किया गया है.

इमेज कॉपीरइट ALPINESTARS

एल्पाइनस्टार्स का कहना है कि टेक-एयर स्ट्रीट को सीई प्रमाण पत्र मिलने के बाद इसे जहाज़, रेल और विमान के ज़रिए ले जा सकता है.

यानी छुट्टियां मनाने के शौक़ीन इसे आराम से अपने साथ ले जा सकते हैं.

टेक-एयर स्ट्रीट यूरोपीय बाज़ारों में इसी साल से मिलना शुरू हो जाएगा. इसके बाद इसकी बिक्री अमरीका में की जाएगी. इस जैकेट की शुरुआती क़ीमत 1200 यूरो रखी गई है.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी ऑटो पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार