हौसलों की उड़ान भर, स्कूल चले हम!

  • 12 जनवरी 2015
पेशावर सैनिक स्कूल खुला इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान में पेशावर के सैनिक स्कूल के बाहर लंबे सन्नाटे के बाद एक बार फिर से गहमा-गहमी शुरू हो गई है.

वो स्कूल फिर से खुल गया है जहां पिछले महीने चरमपंथी हमला हुआ था.

झकझोर देने वाली इस बर्बर हमले में 140 से ज़्यादा स्कूली बच्चे और शिक्षक मारे गए थे.

इसके बाद सवाल उठाया जा रहा था कि भयानक हिंसा देखने वाले बच्चे क्या कभी इस मानसिक आघात से पूरी तरह उबर पाएंगे?

इमेज कॉपीरइट AP

लेकिन सोमवार को उसी स्कूल के बच्चे नए उत्साह और ऊर्जा से लैस होकर स्कूल जाने के लिए तैयार दिखे.

सोमवार को स्कूल खुलने पर बच्चे पूरे उत्साह और मस्ती से स्कूल की ओर चल पड़े हैं.

ये तस्वीरें न केवल स्कूल जाते बच्चों की हैं बल्कि उस हौसले और मजबूती की भी है जो बच्चों और उनके अभिभावकों ने दिखाई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

किसी तरह की आशंका को देखते हुए स्कूल के आस-पास भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है.

स्कूल के पास की सड़क पर एक सैनिक गश्त लगाता हुआ आते जाते बच्चों की सुरक्षा पर नजर बनाए हुए है.

इमेज कॉपीरइट AFP

पेशावर सैनिक स्कूल के पास की सड़कों पर आने जाने वाले हर व्यक्ति और वाहन की गहन तलाशी की जा रही है.

इमेज कॉपीरइट AFP

सैनिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक उन्हें स्कूल के गेट पर छोड़कर जाते हुए.

इमेज कॉपीरइट AFP

16 दिसंबर को सुबह पेशावर स्थित एक आर्मी स्कूल पर तालिबान लड़ाकों ने हमला किया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

हमले में मारे गए लोगों में स्कूल स्टाफ़ के भी नौ लोग थे.पाकिस्तानी सेना के अनुसार सभी सात हमलावर मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट AFP

चरमपंथी हमले को तालिबान ने पाकिस्तान सेना की कार्रवाई का बदला करार दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए