इमरान की शादी में मीडिया दीवाना

  • 12 जनवरी 2015
इमरान ख़ान, रेहाम ख़ान इमेज कॉपीरइट IMRAN KHAN OFFICIAL
Image caption इमरान ख़ान और रेहाम ख़ान

आज सबेरे-सबेरे क़रीब पाँच बजे एक फ़ोन कॉल आई, मैंने हड़बड़ाकर सोचा कि ख़ुदा ख़ैर करे कहीं...मगर दूसरी तरफ़ से एक जनाना आवाज़ आई, "वुसत साहब, मैं टोरटों के एशियन एफ़एफ़ चैनल से बोल रही हूँ, हम आपको इमरान ख़ान की शादी पर लाइव लेना चाहते हैं."

मैंने पूछा इस वक़्त...उन्होंने कहा, जी इस वक़्त. मैंने पूछा, क्या उनका तलाक हो गया? उन्होंने कहा, नहीं तो..हमने सोचा आप भी बीबीसी में हैं, रेहाम ख़ान भी बीबीसी में थीं तो....

मगर बीबी, बीबीसी में अविनाश चतुर्वेदी समेत दस हज़ार लोग काम कर चुके हैं तो क्या मैंने सबको जानने का ठेका ले रखा है?

मैंने फ़ोन ऑफ़ कर दिया.

मेरी बीवी ने घूरकर देखा और फिर करवट बदल ली. मुझे पता है कि वो क्या सोच रही होगी...ये औरतें भी ना...

शादी इमरान की और...

इमेज कॉपीरइट IMRAN KHAN OFFICIAL

यार, शादी तो की इमरान ख़ान ने रेहाम ख़ान से, मुझे क्यों देर-सबेर तंग किया जा रहा है. मैं तो बेगानी शादी में अब्दुल्लाह दीवाना भी नहीं...

ना ही वो काजी मेरा चचा है जिसने इन दोनों का निकाह पढ़ाया. ना मेरे ताया की फूलों की दुकान है जहाँ से सेहरा बनाने का ऑर्डर दिया गया. ना वो बावर्ची मेरा फ़ूफ़ा है जिसने शादी की बिरयानी पकाई. ना मेरे खालू सुनार हैं जिन्होंने नवलखा और अंगूठी बनाई होगी...तो मैं ही क्यूँ...वाय मी?

अगर इस मामले में मेरा कोई तजुर्बा है तो बस इतना कि मैंने भी दो शादियाँ कीं और चार बच्चे पैदा किए. लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि मैं बेगानी शादियों पर टिप्पणी करने वाला एक्सपर्ट बन गया!

जब शामिल था तो नहीं पूछा

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption स्वर्गीय बेनज़ीर भुट्टो एक चुनावी रैली को संबोधित करती हुई.

बेनज़ीर भुट्टो ने जब आसिफ़ जरदारी से 1986 में शादी की थी तो कराची के सबसे ग़रीब इलाक़े लियारी के टिकरी मैदान में हज़ारों लोगों और मीडिया के सामने की थी. मैं भी उस शादी में शरीक था, तब तो किसी चैनल ने नहीं पूछा कि आप इस शादी के बारे में क्या कहते हैं!

इमरान ख़ान ने अपनी शादी में सिर्फ 20-25 मेहमानों और रिश्तेदारों को ही बुलाया. मीडिया बस बन्नी गाला के गेट के सामने ही मंडराता रहा और जो भी बाहर निकला उसे घेर लिया कि बताइए कि अंदर क्या हुआ?

अब कोई पूछे कि ये क्या सवाल हुआ कि अंदर क्या हुआ!

क्या आपको नहीं पता...

नहीं पता तो मैं बताए देता हूँ..अंदर नरेंद्र मोदी आए हुए हैं इमरान ख़ान और रेहाम से अंटार्कटिका में तेल की तलाश के समझौते पर बातचीत के लिए...अब ठीक है.

पूछना ही है तो...

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इमरान ख़ान और उनकी पूर्व पत्नी जेमाइमा.

अरे..पूछना ही है तो मौलाना फ़जलुर्रहमान से पूछे कि अब जब इमरान ख़ान ने यहूदी के बजाय मुसलमान लड़की से शादी कर ली तो आप क्या कहते हैं? फिर मौलाना जो भी कहें, उसे ब्रॉडकास्ट भी करके दिखावो तब मानें...

और नहीं तो पुराने दोस्त नवाज़ शरीफ़ से ही पूछ लो कि अब जबकि इमरान ख़ान ने दूसरी शादी कर ली है तो आप क्या सोचते हैं? मगर ये सवाल उस वक़्त करना जब बेगम कुलसूम नवाज़ आसपास न हों, वरना आपके सिर पर बेलन का गूमड़ा भी पड़ सकता है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़.

नहीं, तो सबसे जाने माने विधुर आसिफ़ जरदारी से ही पूछ लें कि अब आप क्या सोचते हैं? ज़ाहिर है वो भी कुछ न कुछ सोचते ही होंगे...

मुझे मालूम है कि मीडिया मेरा यह मशविरा मानने से रहा कि किसी से किसी की शादी के बारे में उसे क्या? यहाँ आदमी अपनी ही शादी निभा ले तो बड़ी बात है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार