बेल्जियम: चरमपंथ विरोधी छापे में दो की मौत

  • 16 जनवरी 2015
इमेज कॉपीरइट EPA

पूर्वी बेल्जियम के वेरविए शहर में पुलिस के चरमपंथ विरोधी अभियान में दो लोग मारे गए और एक को गिरफ़्तार किया गया है.

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि जिन लोगों को अभियान में निशाना बनाया गया है, वो सीरिया से लौटे संदिग्ध जिहादी हैं.

संघीय अभियोजक कार्यालय के प्रवक्ता एरिक वानडर सिप्ट ने पत्रकारों को बताया कि इस मुठभेड़ में पुलिस वालों और आम जनता को कोई नुक़सान नहीं हुआ है.

छापेमारी

इमेज कॉपीरइट EPA

उन्होंने बताया, ''संदिग्धों ने पुलिस को देखते ही गोलियां चलानी शुरू कर दीं. उनके पास अत्याधुनिक हथियार थे जो सेना के पास होते हैं. साथ ही हथगोले भी थे. पुलिस को बड़े पैमाने पर हमले की सूचना मिली थी और उसी के तहत यह छापेमारी शुरू की गई.''

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना था कि उन्होंने काफ़ी देर तक गोलियों की आवाज़ें सुनीं और कम से कम तीन धमाके भी सुने गए.

सोशल मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक़ शहर के बीचों बीच पुलिस का भारी जमावड़ा है.

इससे पहले दो संदिग्ध इस्लामी चरमपंथियों को ब्रसेल्स के पास शेवंटर्न शहर से गिरफ्तार किया गया था. ये घटना फ्रांस में शार्ली एब्डो पत्रिका के दफ़्तर पर हमले के एक हफ़्ते बाद हुई है, जिसमें 17 लोग मारे गए थे.

सुरक्षा

इमेज कॉपीरइट Reuters

वेरविए शहर बेल्जियम के लीज प्रांत में है और इसकी कुल आबादी क़रीब 56 हज़ार है.

बेल्जियम के मीडिया के मुताबिक़ फ्रांस के हमले में इस्तेमाल कुछ हथियार ब्रसेल्स पहुंचाए गए हैं. हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है.

घटना के बाद बेल्जियम में अलर्ट जारी कर दिया गया है और सुरक्षा का स्तर बढ़ा दिया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार