पेरिस हमला: 'कार्टूनिस्टों' का अंतिम संस्कार

  • 15 जनवरी 2015
शार्ली एब्डो के मारे गए कार्टूनिस्ट का अंतिम संस्कार इमेज कॉपीरइट Getty

पिछले हफ़्ते व्यंग्य पत्रिका शार्ली एब्डो के दफ़्तर पर हुए इस्लामिक चरमपंथी हमले में मारे गए चार लोगों का गुरुवार को अंतिम संस्कार किया गया.

जिन लोगों का अंतिम संस्कार किया गया, उनमें पत्रिका के कार्टूनिस्ट बर्नार्ड वर्लहैक जिन्हें टिगनाउस के नाम से जाना जाता था, जॉर्ज वोलिंस्की, एक स्तंभकार और एक पुलिसकर्मी शामिल हैं.

पिछले हफ़्ते पेरिस में अलग-अलग हिंसक घटनाओं में कुल 17 लोग मारे गए. इनमें से 12 लोग शार्ली एब्डो के दफ़्तर पर हुए हमले और अन्य पाँच लोग उसके बाद अन्य दो जगहों पर हुए हमलों में मारे गए थे.

मरने वालों में आठ पत्रकार और तीन पुलिस अधिकारी शामिल थे.

कट्टरता से सर्वाधिक पीड़ित मुसलमान: ओलांद

57 वर्षीय टिगनाउस के अंतिम संस्कार पर एकत्रित उनके दोस्तों ने कहा कि वो भयभीत नहीं हैं और पत्रिका अब भी नियमित रूप से प्रकाशित होती रहेगी.

मुसलमानों की सुरक्षा करेंगे

इमेज कॉपीरइट AFP

गुरुवार को ही शार्ली एब्डो की स्तंभकार एल्सा कैएट और पत्रिका के संपादक स्टीफन शॉर्बोनियर के अंगरक्षक फ्रैंक ब्रिंसोलैरो का भी अंतिम संस्कार किया गया.

इससे पहले, फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने कहा कि मुसलमानों की सुरक्षा करना देश का दायित्व है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption शार्ली एब्डो के ताज़ा अंक की प्रतियाँ ख़रीदने के लिए लगी लोगों की क़तार.

उन्होंने कहा कि कट्टरता से सबसे अधिक पीड़ित मुस्लिम हैं.

अरब वर्ल्ड इंस्टीच्यूट में गुरुवार को अपने संबोधन में ओलांद ने कहा मुसलमानों और यहूदियों के ख़िलाफ़ हिंसा की निंदा की जानी चाहिए और इसे दंडित किया जाना चाहिए.

घटना के बाद प्रकाशित शार्ली एब्डो के ताज़ा अंक की 50 लाख प्रतियाँ बिकी हैं. इससे पहले पत्रिका की क़रीब 50 हज़ार प्रतियाँ ही प्रकाशित होती थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार