जापानियों को छोड़ने के लिए 20 करोड़ दें: आईएस

आईएस के निशाने पर अब दो जापानी बंधक इमेज कॉपीरइट AFP

इस्लामिक स्टेट के एक नए वीडियो में दो जापानी बंधकों को मारने की धमकी दी गई है.

वीडियो में दिखाया गया है कि दो बंधक ज़मीन पर घुटने के बल बैठे हैं और एक चरमपंथी इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ रहे देशों की मदद करने के लिए जापान की आलोचना कर रहा है.

इस्लामिक स्टेट का कहना है कि अगर जापान ने 20 करोड़ डॉलर की फिरौती 72 घंटे में नहीं दी तो दोनों बंधकों को मार दिया जाएगा.

कट्टरपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट पिछले साल की शुरुआत से इराक़ और सीरिया की सेनाओं के ख़िलाफ़ विद्रोह चला रहा है और उसने दोनों देशों के एक क्षेत्र पर कब्जा भी किया हुआ है.

मध्य पूर्व को करोड़ों डॉलर की मदद

जापान का विदेश मंत्रालय इस्लामिक स्टेट के तथाकथित वीडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि करने की कोशिश कर रहा है.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे मध्य पूर्व के दौरे पर हैं और उन्होंने कहा है कि अपने लोगों की जान बचाना उनकी प्राथमिकता है लेकिन जापानी नीति में कोई बदलाव नहीं होगा.

जापान ने मध्य पूर्व के विकास के लिए ढ़ाई अरब डॉलर की ग़ैर-सैन्य मदद का ऐलान किया है.

इस मदद में से 20 करोड़ डॉलर उन देशों को मदद के रुप में दिया जाएगा जो इस्लामिक स्टेट के खिलाफ़ लड़ रहे हैं.

इस चरमपंथी संगठन ने इसके पहले भी कई लोगों को गला काट कर मार डालने के वीडियो जारी किए हैं. मारे गए लोगों में पत्रकार भी शामिल हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार