चीनी वीचैट एप पर अमरीकी झंडे से हंगामा

वीचैट इमेज कॉपीरइट WEBO

वीचैट एप बनाने वाली चीनी टेक्नोलॉजी कम्पनी टेंसेंट ने उपभोक्ताओं के मोबाइल पर 'मानवाधिकार' शब्द के साथ अमरीकी झंडा दिखने के लिए माफ़ी मांगी है.

वॉट्सएप की तरह ही वीचैट एप चीन का मोबाइल मैसेजिंग एप है.

यूज़र के मोबाइल पर 'हैप्पी बर्थडे' जैसे शब्द टाइप करते ही अमरीकी झंडा और मानवाधिकार शब्द स्क्रीन पर आने लगता था.

ग्लोबल टाइम्स वेबसाइट के मुताबिक़, जब चीनी यूजर्स को अपनी स्क्रीन पर यह दिखा तो उन्हें काफ़ी ताज्ज़ुब हुआ.

कम्युनिस्ट यूथ लीग कमेटी के अधिकारियों ने बताया कि जब 'चीन' या ' नेशनल डे' टाइप किया जाता है तो एप कोई तस्वीर नहीं दिखाता है.

हालांकि कंपनी टेंसेंट ने इसे तकनीकी गड़बड़ी क़रार दिया है.

अमरीका और मानवाधिकार

इमेज कॉपीरइट AP

कंपनी ने एक बयान में कहा है कि एप का यह फ़ीचर 'मार्टिन लूथर किंग जूनियर दिवस' मनाने के लिए अमरीकी यूज़र्स के लिए बनाया गया था.

इस फ़ीचर को चीन में अब बंद कर दिया गया है.

सोशल मीडिया पर इसे लेकर कई तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

चीन की सोशल मीडिया वीबो पर कुछ लोग इस बात से गुस्से में हैं कि मानवाधिकार को अमरीका से जोड़ा गया न कि चीन से.

एक यूज़र ने टिप्पणी की है, "क्या इस देश में मानवाधिकार नहीं है?"

एक लोकप्रिय टिप्पणी में कहा गया है, "राष्ट्रीय झंडे के इस्तेमाल के लिए चीन में दिशानिर्देश हैं, आप केवल मज़ाक के लिए इसे नहीं इस्तेमाल कर सकते."

एक अन्य यूज़र ने कहा है, "आपने कुछ भी ग़लत नहीं किया है, माफ़ी मांगने की ज़रूरत नहीं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार