कर्ज़ में डूबे ग्रीस में आम चुनाव

greece_elections इमेज कॉपीरइट EPA

ग्रीस में नई संसद को चुनने के लिए वोट डाले जा रहे हैं.

कर्ज़ में डूबे देश ग्रीस में इस चुनाव को बेहद अहम माना जा रहा है क्योंकि इसके नतीजे देश को बड़े बदलाव की तरफ ले जा सकते हैं.

वामपंथी पार्टी सिरिजा का कहना है कि वो ग्रीस को दिए गए अंतरराष्ट्रीय राहत पैकेज की शर्तों को बदलवाने का प्रयास करेगी.

पार्टी के नेता एलेक्सी त्सिपरास का कहना है कि ग्रीस अपने इस कर्ज को चुकाने की स्थिति में नहीं है इसलिए इसे माफ़ किया जाए.

लेकिन मौजूदा प्रधानमंत्री और न्यू डेमोक्रेसी पार्टी के नेता एंतोनिस समारास का कहना है कि घाटे को कम करने के लिए अपनाए गए कटौती उपायों का असर हो रहा है.

उन्होंने देश के लोगों से अपील की है कि वो ग्रीस को अपना कर्ज न चुकाने वाला देश नहीं बनने दें जिससे वो साझा मुद्रा यूरोज़ोन से बाहर हो जाए.

ग़रीबी और बेरोज़गारी

इमेज कॉपीरइट .

देश में कुल एक करोड़ मतदाता हैं जो 300 सदस्यों वाली संसद को चुनने के लिए वोट डाल रहे हैं.

सिरिजा पार्टी के नेता एलेक्सिस सीप्रास का कहना है, "उनकी पार्टी देश में रोजगार, वेतन और पेंशन में कटौती वाली नीतियों को ख़त्म कर ग्रीस को दोबारा सम्मानजनक स्थिति में पहुंचाएगी.

लेकिन सत्तारूढ़ पार्टी का कहना है कि देश की अर्थव्यवस्था संकट से उबर रही है.

2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद से ग्रीस की अर्थव्यवस्था लगातार मंदी में है, जिसके चलते वहां गरीबी और बेरोज़गारी बढ़ रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)