ग्रीस: एलेक्सिस त्सीपरास बने प्रधानमंत्री

  • 26 जनवरी 2015
ग्रीस में बनेगी वामपंथी और दक्षिणपंथी पार्टियों की साझा सरकार इमेज कॉपीरइट AP

ग्रीस में वामपंथी नेता एलेक्सिस त्सीपरास ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ले ली है.

इससे पहले आम चुनावों में सबसे बड़े दल के रूप में उभरी त्सीपरास की सिरीज़ा पार्टी ने ग्रीक इंडीपेंडेंट्स के साथ साझा सरकार बनाने का फ़ैसला किया.

वामपंथी रुझान वाली सिरीज़ा को 149 सीटें मिलने की संभावना है. पर यह संख्या सरकार बनाने के लिए ज़रूरी सीटों से दो सीट कम है. लिहाज़ा, उसने दक्षिणपंथी पार्टी से हाथ मिलाने का मन बनाया है.

तीन सौ सदस्यों वाली संसद में ग्रीक इंडीपेंडेंट्स को 13 सीटों पर जीत मिलने की संभावना है.

कर्ज़ की शर्तों पर फिर बात

इमेज कॉपीरइट EPA

सिरीज़ा के नेता एलेक्सिस त्सीपरास ने चुनावों के पहले ही वादा किया था कि वो ग्रीस को "अपमान और पीड़ा" से मुक्ति दिलाने के लिए राहत पैकेज की शर्तों पर फिर से बात करेंगे.

विश्व बैंक, यूरोपीय संघ और यूरोपियन सेंट्रल बैंक (ईसीबी) ने मिलकर ग्रीस को 240 अरब यूरो का कर्ज़ देने का वादा किया है.

यूरोप के कई राजनेताओं ने उन्हें राहत पैकेज की शर्तों का सम्मान करने के प्रति चेताया है.

इन कर्ज़दाताओं ने शर्त रखी है कि ग्रीस बजट घाटा कम करे और ढांचागत सुधारों को तेज़ी से लागू करे. इसके लिए ग्रीस को अपने खर्चों में बड़े पैमाने पर कटौती करनी होगी.

यूरो लुढ़का

इमेज कॉपीरइट Getty

ग्रीस के चुनावों में कर्ज संकट सबसे बड़ा मुद्दा बनकर उभरा. चुनाव के नतीजों को इस रूप में देखा जा रहा है कि जनता ने सरकार की नीतियों को ख़ारिज कर दिया है.

चुनाव नतीजों के रुझानों के सामने आने के बाद यूरो के मूल्य में ज़बरदस्त गिरावट देखी गई.

यूरो का मूल्य 1.11 डॉलर पर आ गया. यह पिछले 11 साल में यूरो की सबसे कम कीमत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार