दक्षिण अफ़्रीका: रंगभेदी हत्यारे को पैरोल

यूजीन डी कोक, दक्षिण अफ़्रीका इमेज कॉपीरइट Getty

दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद के ज़माने की डेथ स्क्वॉड के कमांडर और सौ से ज़्यादा हत्याओं के दोषी यूजीन डी कॉक को 20 साल जेल में गुज़ारने के बाद पैरोल दी गई है.

1980 और 1990 के दशक में गोरे अल्पसंख्यकों के शासन से लड़ रहे कार्यकर्ताओं की हत्या करने और विकलांग बनाने में उनकी भूमिका के लिए डी कोक को 'प्राइम इविल' (प्रमुख शैतान) उपनाम दिया गया था.

66 वर्षीय डी कॉक को उनके अपराधों के लिए साल 1996 में दो उम्र क़ैद और फिर उसके बाद 212 साल कारावास की सज़ा मिली थी.

दक्षिण अफ़्रीकी क़ानून मंत्री माइकल मसूथा ने कहा कि डी कॉक को 'राष्ट्र निर्माण के हित में' छोड़ा गया है.

संविधान से प्रेरित फ़ैसला

इमेज कॉपीरइट AP

मसूथा के अनुसार डी कॉक को छोड़ने की जगह और वक़्त सार्वजनिक नहीं किया गया है.

क़ानून मंत्री ने इस बात पर ज़ोर दिया कि उनका फ़ैसला दक्षिण अफ़्रीकी संविधान से प्रेरित है.

दक्षिण अफ़्रीका में रंगभेदी शासन के समापन के बाद साल 1995 में बनाए गए ट्रुथ एंड रिकॉन्सिलिएशन कमीशन के सामने डी कॉक ने सैकड़ों हत्याएँ करने की बात कबूल की थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार