ब्रिटेनः आधी आबादी पर कैंसर का ख़तरा

  • 4 फरवरी 2015
कैंसर कोशिका, कैंसर सेल इमेज कॉपीरइट

ब्रिटेन में हर दूसरा व्यक्ति अपने जीवनकाल में कभी भी कैंसर का शिकार हो सकता है. यह कहना है ब्रिटेन की संस्था कैंसर रिसर्च यूके का.

संस्था ने गणना के नए तरीकों से अपने पुराने अनुमान में बदलाव किया है. पहले के शोध में कहा गया था कि ब्रिटेन में हर तीसरे व्यक्ति को कैंसर का ख़तरा है.

शोध के अनुसार जीवन प्रत्याशा बढ़ने का अर्थ है ज़्यादा लोगों का इससे प्रभावित होना.

हालाँकि संस्था ने यह भी कहा है कि जीवन शैली में बदलाव जैसे वजन कम रखना, धूम्रपान न करना इत्यादि से इसके ख़तरे को बहुत हद तक कम किया जा सकता है.

पुरुषों पर ज़्यादा ख़तरा

अच्छी ख़बर यह है कि उपचार के बाद कैंसर पीड़ित लोगों के स्वस्थ होने की संख्या भी बढ़ी है.

माना जा रहा है कि कैंसर होने की संभावना के बारे में यह बढ़ोतरी इसके आकलन की ज़्यादा विकसित और सटीक विधि के इस्तेमाल से हुई है.

हालाँकि नई और पुरानी दोनों विधियों से यह स्पष्ट है कि कैंसर होने का ख़तरा बढ़ा है.

संस्था के आंकड़ों के अनुसार क़रीब 54 प्रतिशत पुरुषों को कैंसर होने की संभावना है. वहीं लगभग 48 प्रतिशत महिलाएँ इससे पीड़ित हो सकती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार