बोको हराम के हमले में 70 की जान गई

बोको हराम के चरमपंथी इमेज कॉपीरइट AFP

बोको हराम के चरमपंथियों ने नाइजीरिया से लगे कैमरून के फ़ोटोकोल क़स्बे पर कथित तौर पर हमला कर 70 लोगों की हत्या कर दी.

स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि इस्लामिक चरमपंथियों ने लोगों के घरों और क़स्बे की मस्जिद पर हमला किया और कई इमारतों में आग लगा दी.

यह हमला उस समय हुआ है जब क्षेत्रीय बलों ने एक दिन पहले ही कहा था कि उन्होंने चरमपंथियों को फ़ोटोकोल के पास नाइजीरियाई शहर से खदेड़ दिया है.

हिंसा का दौर

इमेज कॉपीरइट none

पिछले छह सालों में बोको हराम की हिंसा में हज़ारों लोगों की जान गई है.

चरमपंथियों की वजह से लाखों लोगों को अपना घर-बार छोड़ना पड़ा है. पूर्वोत्तर नाइजीरिया के एक बड़े हिस्से पर बोको हराम का नियंत्रण है.

समाचार एजेंसी एएफ़पी को फ़ोकोटोल के निवासियों ने बताया कि चरमपंथियों ने कई लोगों की गला रेत कर हत्या कर दी.

उमर बाबाकाली नाम के एक निवासी ने टेलीफ़ोन पर एएफ़पी को बताया, ''आज सुबह यहां बोको हरामने काफ़ी नुक़सान पहुंचाया. उन लोगों ने दर्जनों लोगों की हत्या कर दी.''

कहा जा रहा है कि क़स्बे की मुख्य मस्जिद को आग लगा दी गई.

क़स्बे पर क़ब्ज़ा

बोको हराम के चरमपंथियों को कैमरून के सुरक्षा बलों ने खदेड़ा था, इसमें पड़ोसी नाइजीरियाई क़स्बे गामबोरु में तैनात चाड के सुरक्षा बलों ने भी मदद की थी.

इमेज कॉपीरइट GETTY

चाड की सेना ने मंगलवार को कहा था कि गामबोरु पर फिर नियंत्रण के लिए हुई लड़ाई में दो सौ से अधिक चरमपंथी मारे गए हैं और कुछ भागने में सफल रहे हैं.

नाइजीरिया की सेना की चरमपंथ पर रोक लगा पाने में नाकाम होने की आलोचना के बाद चाड के सैनिक बोको हराम से लड़ने के लिए नाजीरिया और कैमरून पहुँचे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार