इस तरह भी मिलती है नौकरी...

थिंकस्टॉक इमेज इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

नौकरी के लिए इंटरव्यू के दौरान हमसे अक्सर हमारी ताक़त और कमज़ोरी के बारे में पूछा जाता है. हममें से अधिकांश खुद-ब-खुद जानते हैं कि इसका जवाब कैसे दिया जाए.

सामान्य बुद्धि हमें बताती है कि झूठी कमजोरियां गिनाई जाएं– ऐसी चीज जो ताक़त है उसे नकारात्मक बताया जाता है और फिर इसको सकारात्मक बना दिया जाता है.

यहां तक कि आप अपनी कमजोरी को उस काम के लिए जरूरी हुनर में बदल सकते हैं जिसको हासिल करने की पूर्ण योग्यता आप में नहीं है.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

पर क्या वास्तव में ऐसी कमजोरियां हैं जिन्हें आप आसानी से अपनी ताक़त में बदल सकते हैं, कमज़ोरियां जिन्हें आप जीत सकते हैं? और आपके करियर के लिए इसका क्या मतलब होगा?

क्या आप अपनी कमजोरी को नज़रअंदाज करने लायक बना सकते हैंजिससे आपको वो नौकरी मिल जाए जिसको पाने की पूरी योग्यता आप में नहीं है?

ये कुछ ऐसे मुद्दे हैं जिन पर ‘लिंक्डइन इन्फ़्लुएंसर्स’ में विचार किया गया.

पढ़ें, 'लिंक्डइन इनफ्यलुएंसर्स' में आए सुझाव

पढ़ें, निश्चिंत होकर 40 साल पर रिटायरमेंट सभव..

हिरोशी मिकितानी, मुख्य कार्यकारी, राकुतेन इंक

मिकितानी ने अपनी पोस्ट ‘टर्न योर वीकनेस इनटू योर स्ट्रेंथ’ में लिखा है, "अमेरिका में सुपर बाउल 2015 शीघ्र ही खेला जाना है. इस चैंपियनशिप में इस बात की संभावना कम ही है कि आपको कोई एथलीट गलती करता दिखाई दे. अगर इस खेल में एथलीट को चोट भी लगती है तो वह इसे छिपा लेगा – वे नहीं चाहते कि प्रतिद्वंद्वी उनकी कमजोरी जानें."

इमेज कॉपीरइट AP

लेकिन उन्होंने लिखा, "व्यवसाय में इस तरह का व्यवहार करने की कोई ज़रूरत नहीं है."

मिकितानी ने लिखा, "काम और व्यवसाय को लेकर आप में कमियां हो सकती हैं लेकिन इनको दूर किया जा सकता है और इन्हें अपनी ताक़त में बदला जा सकता है. हालांकि यह समझना भी घातक होगा कि हर कमजोरी को मजबूती में बदला जा सकता है."

अध्ययन करें

इमेज कॉपीरइट Getty

अपनी कमियों को दूर करने के लिए सबसे पहले आपको यह पता होना चाहिए कि वास्तव में आपकी कमजोरियाँ क्या हैं.

एक बार जब आप यह कर लेते हैं, फिर आप इन नकारात्मक बातों को सकारात्मक कर सकते हैं.

पढ़ें, स्मार्ट, पर आलसी लोगों के लिए 4 करियर

मिकितानी लिखते हैं, “उन बातों का अध्ययन कीजिए जिनके बारे में आप नहीं जानते. अगर आप औपचारिक क्लास नहीं लेते हैं फिर भी, वो किताबें जमा कीजिए जिनकी आपको ज़रूरत है और हर दिन अध्ययन के लिए कुछ समय निकालिए.”

प्रैक्टिस करें

मिकितानी ने आगे लिखा है, “उसका अभ्यास कीजिए जिसमें आप कमजोर हैं.”

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

मिकितानी लिखते हैं, “राकुतेन में हमने अंग्रेज़ी में पारंगत होना प्राथमिकता में रखा है. अक्सर कर्मचारी काम शुरू करने से पहले सुबह छोटे-छोटे समूह में जमा होते हैं ताकि बातचीत की प्रैक्टिस की जा सके. यह बातचीत काम से जुड़ी नहीं होती – वे अपनी पसंद के रेस्त्रां के बारे में बातचीत कर सकते हैं या फिर अपनी पसंदीदा खेल टीम के बारे में बात कर सकते हैं. मक़सद सिर्फ प्रैक्टिस करना है.”

जहाँ पर आप कमजोर हैं वहां सुधार के लिए प्रैक्टिस एक सुनिश्चित रास्ता है.

पढ़ें, सावधान! आपकी सेहत पर है कंपनी की नज़र

लिज़ रेयान, मुख्य कार्यकारी, ह्यूमन वर्कप्लेस

रेयान ने ‘हाउ टु गेट अ जॉब यू आर नॉट क्वालिफाइड फॉर’ में लिखा है, “क्या आपने उस नौकरी के इंटरव्यू के बारे में सोचा है जिसके लिए आप पूरी तरह से योग्य थे, पर यह किसी ऐसे व्यक्ति को मिल जाती है जो इसके लिए कतई योग्य नहीं लगता. उस व्यक्ति को कैसे वह नौकरी मिल गई जब कि उसकी योग्यता उस पद के लिए दिए गए विज्ञापन में बताई गई योग्यता के अनुरूप नहीं थी?”

वह लिखती हैं, “उस आवेदक ने उस “बिज़नेस पेन प्वाइंट” का पता लगाया जिसका कि नौकरी के लिए दिए जाने वाले विज्ञापनों में शायद ही जिक्र होता है और तब उसने यह पता लगाया कि इससे कैसे निपटा जाए.”

बिज़नेस पेन प्वाइंट

इमेज कॉपीरइट Reuters

लिज़ लिखती हैं, “पहले तो उस आवेदक ने एक बहुत ही बाध्यकारी पत्र लिखा ...और फिर इस नौकरी के लिए इंटरव्यू देने गया. उसने इस बात का जिक्र नहीं किया कि विज्ञापन में गिनाए गई आवश्यक योग्यताओं पर वह कैसे खरा उतरेगा. उसके पास तो ऐसी कोई योग्यता ही नहीं थी”.

वो लिखती हैं, “उल्टे, उसने इंटरव्यू लेने वालों पर ही सवाल दागे. उसने बहुत ही धारदार प्रश्न पूछे ताकि वह 'बिज़नेस पेन' के बारे में ज्यादा जान सके”. ऐसा करके इस कम योग्य व्यक्ति ने यह पता लगा लिया कि नौकरी देने वाले मैनेजरों का यह समूह विज्ञापन में बताई गई योग्यताओं से अलग कुछ और ही ढूंढ रहा है.

पढ़ें, अमीर कैसे और अमीर बनते हैं?

ब्रह्म वाक्य

इमेज कॉपीरइट Getty

लिज़ कहती हैं, "नौकरी के लिए दिए गए विज्ञापन को 'ब्रह्म वाक्य' नहीं मानना महत्वपूर्ण है. बाहर से व्यवसाय की यह दुनिया बहुत ही सुनियोजित और औपचारिक लगती है पर वास्तव में अंदर से वह बहुत ही अव्यवस्थित है. इन जगहों पर अहम निर्णयों के लिए बहुत कम समय दिया जाता है."

इस बात को सोचने का कोई कारण नहीं है कि नौकरी देने वाले मैनेजर जब नौकरी के लिए विज्ञापन देते हैं तो वह वह जान रहे होते हैं कि उनको आखिर जरूरत किस बात की है.

हो सकता है कि विज्ञापन में उन्होंने जो ज़रूरी योग्यताएं गिनाई हैं, वास्तव में उनको इससे एकदम अलग व्यक्ति की ज़रूरत हो.

उसने लिखा, "इसीलिए आपको भी वो नौकरी मिल सकती है जिसके लिए कागजी तौर पर आप योग्य न हों."

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहाँ पढें, जो बीबीसी कैपिटल पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार